ropeway scheme

घोषणा के बावजूद शुरू नहीं हो पाया कार्य

कई बार बनाई गई योजना, पर पूरी नहीं हुई

हिमाचल दस्तक। बड़सर
प्रदेश में भाजपा सरकार के सत्ता संभालने के उपरांत उम्मीद जगी थी कि उत्तरी भारत के प्रसिद्ध सिद्धपीठ बाबा बालक मंदिर दियोटसिद्ध में प्रस्तावित रोप वे योजना को अमलीजामा पहनाया जाएगा, लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हुआ। हालांकि इससे पहले भी पूर्व भाजपा व कांग्रेस सरकारों ने सत्ता पर काबिज होने के तुरंत बाद बजट सेशन के दौरान इस योजना को अमलीजामा पहनाए जाने की घोषणा की थी, लेकिन अभी तक यह योजना सिरे नहीं चढ़ पाई है, जबकि श्रद्धालुओं व पर्यटकों को आकर्षित करने के दृष्टिगत प्रस्तावित रोप वे के निर्माण के लिए इससे पहले भी कई बार योजना बनाई गई, लेकिन योजना अभी तक फाइलों में धूल चाट रही है।

बताते चलें कि बाबा बालक नाथ मंदिर दियोटसिद्ध में पर्यटन की आपार संभावनाएं होने के बावजूद भी आलम यह है कि अभी तक सरकार यहां पर पर्यटन को विकसित करने के लिए किसी भी योजना को साकार नहीं कर पाई है।

इस धार्मिक स्थल में देश विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में अपार वृद्धि होने के बावजूद यह संपूर्ण क्षेत्र पर्यटन की दृष्टिगत पूरी तरह उपेक्षित है। हालांकि मंदिर न्यास ने पर्यटन की दृष्टि से श्रद्धालुओं को आकर्षित करने के लिए कई योजनाएं बनाई, लेकिन यह तमाम योजनाएं फाइलों में धूल चाट रही हैं।

गौर रहे कि गत भाजपा सरकार ने भी दियोटसिद्ध में रोप वे योजना का कार्य शीघ्र शुरू करने की घोषणा की थी। दियोटसिद्ध से शाहतलाई तक रोप वे के निर्माण की कई बार घोषणा की गई, लेकिन इस घोषणा पर अमल नहीं हो पाया है। रोप वे के निर्माण से जहां पर्यटन को बढ़ावा मिलना था वहीं बीमार व वृद्ध लोगों को फायदा होना था। गौरतलब है कि इससे पहले भी मंदिर न्यास प्रशासन द्वारा कई बार रोप वे निर्माण के लिए रूपरेखा तैयार की गई थी, लेकिन इस बीच मंदिर के प्रशासनिक अधिकारियों के तबादलों के साथ ही रोप वे योजना ने दम तोड़ दिया।

सरकार को फिर भेजा जाएगा प्रस्ताव

दियोटसिद्ध मंदिर न्यास के अध्यक्ष एवं एसडीएम बड़सर विशाल शर्मा ने बताया कि सरकार द्वारा धार्मिक पर्यटन के लिए बनाई गई नीति के अनुरूप दियोटसिद्ध में शीघ्र ही पर्यटन विकास की योजनाओं को लागू किया जाएगा। सरकार के समक्ष इस योजना के प्रस्ताव को फिर से भेजा जाएगा।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams