Dhumal

प्रदेश सरकार के मुखिया पर बरसे नेता प्रतिपक्ष

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। हमीरपुर
पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि मीडिया में CM वीरभद्र सिंह और कांग्रेस के अन्य नेताओं द्वारा की जा रही बयानवाजी तर्कहीन और तथ्यहीन के साथ-साथ हास्यास्पद भी बन जाती है। उन्होंने कहा कि अभी कांग्रेस का बयान है कि Aims मिलना हिमाचल का हक था तो क्या उस Aims निर्माण के लिए भूमि उपलब्ध करवाना प्रदेश सरकार का दायित्व नहीं था? उन्होंने कहा कि केंद्र की परियोजनाएं जब-जब मिलती हैं तो उनके लिए भूमि उपलब्ध करवाने का दायित्व संबंधित प्रदेश सरकार का ही होता है।

उन्होंने उदाहरण दिया कि वर्ष 2008 में जब कांगड़ा में केंद्र की तत्कालीन यूपीए सरकार ने NIFT देने का प्रस्ताव रखा तो तत्कालीन प्रदेश भाजपा सरकार ने न केवल उन्हें भूमि उपलब्ध करवाई, बल्कि भवन उपलब्ध करवाने के साथ UPA सरकार की शर्तों के मुताबिक 58 करोड़ रुपये भी दिए थे । प्रो. धूमल ने कहा कि इसी प्रकार से ईएसआई मंडी के लिए, आईआईटी मंडी के लिए फूड क्राफ्ट इंस्टीट्यूट धर्मशाला के लिए ऐसे अनेकों केंद्रीय प्रोजेक्टस के लिए प्रदेश भाजपा सरकार ने भूमि उपलब्ध करवाई और उनका निर्माण करवाया।

प्रो. धूमल ने कांग्रेसी नेताओं को कहा कि 2003 से 2013 तक विशेष औद्योगिक पैकेज अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने दिया था उसका कम से कम 2013 तक चालू रहना हिमाचल का हक था उस हक को जब केंद्र में कांग्रेस की यूपीए सरकार ने छीना तो केंद्र में हिमाचल से दो कैबिनेट मंत्री वीरभद्र सिंह व आनंद शर्मा थे तब क्या उन्हें हिमाचल के हक का ज्ञान नहीं था?

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams