News Flash
Effective steps will be taken to make checkdams: Deputy Commissioner

बीडीओ कार्यालयों में सप्ताह में एक बार जरूरी होगी समीक्षा बैठक

हिमाचल दस्तक। धर्मशाला : पंचायतों में चेकडैम निर्मित करने के लिए कारगर कदम उठाए जाएंगे। इस बाबत उपायुक्त राकेश प्रजापति ने शुक्रवार को डीआरडीए सभागार में आयोजित ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा बैठक में सभी विकास खंड अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि ग्रामीण स्तर पर जहां संभव हो चेकडैम निर्मित करने के मनरेगा के तहत सेल्फ तैयार करवाए जाएं इससे जल संरक्षण में मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि मोक्षधाम निर्मित करने के लिए भी उपयुक्त प्लान पंचायतों के माध्यम से तैयार करवाएं। इसके साथ ही पौधरोपण के लिए कारगर कदम उठाए जाएं, ताकि पर्यावरण संरक्षण को बल मिल सके। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने कहा कि पंचायतों में विकास कार्यों के लिए आवंटित धनराशि का सदुपयोग किया जाए, निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों को निर्धारित समयावधि में पूर्ण किया जाना भी जरूरी है।

उन्होंने विकास खंड अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि 2017 से पहले विकास कार्यों के लिए आवंटित धनराशि खर्च नहीं हुई और कार्य भी आरंभ नहीं हुए हैं उक्त धनराशि को वापस कर दें, ताकि इसका उपयोग अन्य विकास कार्यों के लिए किया जा सके। उपायुक्त ने कहा कि दीनदयाल अंत्योदय योजना के तहत अजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूहों को आर्थिक तौर सुदृढ़ करने के लिए प्लान तैयार करने के दिशा-निर्देश दिए।

उन्होंने विकास खंड अधिकारियों को दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि सभी योजनाओं एवं कार्यक्रमों की समीक्षा सप्ताह में एक बार कार्यालय स्तर पर करना जरूरी है, ताकि विकास कार्यों को पूर्ण करने में तेजी लाई जा सके। इससे पहले परियोजना अधिकारी डीआरडीए मुनीष शर्मा ने ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से कार्यान्वित की जा रही सभी योजनाओं के तहत अर्जित उपलब्धियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। इस अवसर पर एडीसी राघव शर्मा सहित सभी विकास खंडों के बीडीओ भी उपस्थित थे।

ग्रामीण टूरिज्म, इको टूरिज्म में स्वरोजगार  की असीम संभावनाएं

अजीविका मिशन के तहत ग्रामीण टूरिज्म, इको टूरिज्म में स्वरोजगार की असीम संभावनाएं हैं तथा स्वयं सहायता समूहों को ऐसे कार्यों के साथ लिंक किया जाए, जो सीधे तौर पर ग्रामीण टूरिज्म तथा इको टूरिज्म के साथ जुड़े हों।्र उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री गृह निर्माण अनुदान योजनाओं का भी सुचारू कार्यान्वयन सुनिश्चित किया जाए। पंचायत स्तर पर ठोस कूड़ा कचरा निष्पादन के लिए भी उचित कार्ययोजना तैयार करने के लिए भी कहा गया है, ताकि पंचायतों को स्वच्छ तथा सुंदर बनाया जा सके।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams