News Flash
elderly chanchalo devi

सरकारी उपेक्षा के चलते उसे नए घर बनाने के लिए पाई तक नसीब नहीं हुई

अमीर बेदी। पालमपुर
मदद को तरसती पथराई आंखें। अनायास ही चेहरे पर लुढ़कते आंसु। खुद की दुर्दशा के लिए किस्मत को कोसती आवाज। जड़ होती जा रही समाज की संवेदनाओं को परखने की कसौटी बन चुकी वृद्धा चंचलो देवी एक वर्ष उपरांत भी खुले आसमान तले रातें गुजारने पर विवश है। सरकारी तंत्र से परेशान चंचलो देवी ने अब अकेले ही प्रदेश मुख्यमंत्री समक्ष हाजिर होने का मन बनाया है। जहां वृद्धा चंचलो अधिकारियों के उदासीन रवैया की पोल खोलकर न्याय की गुहार करेगी।

सरकार भले ही गरीब वर्ग को राहत पहुंचाने के लिए अनेकों कारगर कदम उठाने की बात करती है। लेकिन हकीकत कुछ और बंया कर जाती है। चंचला देवी का पिछले कई वर्षों से ना तो बीपीएल श्रेणी में नाम आया और ना ही उसे किसी अन्य गरीब वर्ग की श्रेणी में डाला गया।

पिछली बरसात में चंचलो का कच्चा मकान तो गिरा ही सामान भी आज तक जमीन में ही दफन है। सरकारी उपेक्षा के चलते उसे नए घर बनाने के लिए पाई तक नसीब नहीं हुई। गांव कोट पलाहडी तहसील नूरपुर की वृद्धा चंचलो देवी ने दूरभाष पर हिमाचल दस्तक से आप बीती सुनाते कहा कि उसके 2 पुत्रों में से एक पुत्र मानसिक तौर से अस्वस्थ है और दूसरा पुत्र दिहाड़ी लगाकर परिवार को चला रहा है। चंचलो ने कहा कि वह अपने पति की मौत उपरांत अकेली यहां कच्चे मकान में रह रही थी लेकिन पिछले वर्ष हुई बरसात उपरांत उसका कच्चा मकान गिर गया।

हर बार की तरह पंचायतों में दस्तावेज तैयार करने की खानापूर्ति शुरू की गई लेकिन एक वर्ष उपरांत भी नया घर बनाने के लिए सरकार से उसे कोई राहत नहीं मिली। पंचायत हालांकि चंचलो देवी प्रति संवेदना तो जता रही है लेकिन उसे नया घर या आर्थिक सहायता देने में हाथ भी खड़े कर रही है।

पंचायत द्वारा आज तक वृद्धा चंचलो देवी को बीपीएल श्रेणी में ना डालना कई सवाल भी खड़े कर रहा है।

हिमाचल दस्तक द्वारा सारे मामले की तहकीकात करने उपरांत मालूम हुआ कि पंचायत ने अपने स्तर पर प्रयास तो किए लेकिन चंचला देवी के लिए महज खानापूर्ति ही साबित हुई। पंचायत के पूर्व प्रधान रामूराम और वर्तमान महिला प्रधान लज्या देवी ने स्वीकारा कि वृद्धा को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए सभी औपचारिकताएं पूरी की गईं लेकिन वृद्धा को घर बनाने के लिए सरकारी मदद नहीं मिल पाई।

पूर्व प्रधान रामूराम और वर्तमान महिला प्रधान लज्जा देवी ने कहा कि वृद्धा चंचलो देवी का नाम पहले भी बीपीएल श्रेणी के लिए डाला गया था लेकिन किन्ही कारणों से उसे इस श्रेणी का लाभ प्राप्त ना हो सका। उन्होंने कहा कि इस बार होने वाली पंचायत जनमंच बैठक में वृद्धा का नाम बीपीएल श्रेणी में डाल दिया जाएगा।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams