children scholarship

आय सीमा अब 1 लाख से बढ़ाकर हुई 3 लाख रुपये

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। ऊना
प्रदेश सरकार द्वारा पूर्व सैनिकों तथा सैनिक विधवाओं के बच्चों को पुन: स्थापना एवं पुन: निर्माण की विशेष निधि से छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिए आय सीमा को 1 से बढ़ाकर 3 लाख कर दिया गया। यह जानकारी देते हुए उपनिदेशक, सैनिक कल्याण मेजर (सेवानिवृत्त) रघवीर सिंह ने दी। उन्होनें बताया कि इस निधि के तहत पूर्व सैनिकों एवं सैनिक विधवाओं के बच्चों के लिए विभिन्न कोर्सों हेतु छात्रवृतियां दी जा रही हैं।

मेजर ने बताया कि इस निधि से स्नातकोतर, पॉलीटेक्नीक, कृषि विश्वविद्यालय, बीएड, जेबीटी, ड्रैसर, डिस्पैंसर, एलटी, ओटी, कला, सामान्य स्वास्थ्य सेवाएं, पटवार कोर्स, वैटनरी स्टॉप कोर्स हेतु 500 रूपये प्रतिमाह और डाक्टरी ईजीनियरिंग तथा आर्युवेदिक जैसे व्यवसायिक कोर्सों के लिए 1,000 रुपये प्रतिमाह की दर से छात्रवृति का प्रावधान किया गया है। उन्होंने बताया कि सेवानिवृत्ति के पश्चात उपरोक्त कोर्स/ प्रशिक्षणों को छोड़कर अन्य कोर्स के लिये 500 रुपये प्रतिमाह की दर से छात्रवृति का प्रावधान है।

उन्होंने बताया कि आईटीआई/ आईआरडीआई कोर्स के लिये 500 रुपये प्रतिमाह की दर से तथा अपंग भूतपूर्व सैनिकों को क्वीन मैरी तकनीकी स्कूल पूणे में पुन: स्थापना प्रशिक्षण हेतु 2,000 रुपये प्रतिमाह की दर से छात्रवृत्ति का प्रावधान किया गया है। मेजर रघबीर सिंह ने पूर्व सैनिकों व सैनिक विधवाओं, जिनकी आय तीन लाख रुपये अथवा इससे कम है, का आह्वान करते हुए कहा कि पात्र पूर्व सैनिक तथा सैनिक विधवाएं इन छात्रवृत्तियां का पूर्ण लाभ उठाएं। उन्होंने बताया कि अधिक जानकारी के लिए जिला सैनिक कल्याण कार्यालय से संपर्क किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें – भीख मांगने वाले हाथों में अब होगी किताब

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams