News Flash
ex servicemen money profit

शिक्षक संघ ने कहा, ऐसे सरकारी कर्मचारियों के लाभ पर चलेगी कैंची

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
राजकीय अध्यापक संघ ने भूतपूर्व सैनिकों को दिए जाने वाले करोड़ों रुपये के वित्तीय लाभ को अन्य कर्मचारियों के वित्तीय लाभ पर चल रही कैंची के मध्यनजर तर्कसंगत नहीं माना है। संघ के अध्यक्ष विरेंद्र चौहान का कहना है कि एक तरफ देश का सर्वोच्च न्यायालय भूतपूर्व सैनिकों के दोबारा प्रदेश में नौकरी प्राप्त करने पर उनकी सैनिक सेवा को वर्तमान पद पर वरिष्ठता के लिए नकार चुका है, तो प्रदेश सरकार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करना चाहिए।

अध्यक्ष के मुताबिक यदि सरकार भूतपूर्व सैनिकों को वरिष्ठता न देते हुए केवल उनकी सैनिक सेवा के लिए वार्षिक वेतन वृद्धियां देने जा रही है तो प्रदेश सरकार को अन्य लाखों कर्मचारियोंं के उन वित्तिय लाभों को भी पूरा कर देना चाहिए।

इन पर पूर्व कांग्रेस सरकार ने कैंची चला रखी थी। राजकीय अध्यापक संघ ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से अनुरोध किया है कि प्रदेश के कर्मचारियों को 4-9-14 वेतन वृद्धि मूल रूप में लागू कर दी जाए। TGT और PGT शिक्षकों को वर्ष 2012 से बंद इनिशियल स्टार्ट दिया जाए। नई ग्रेड-पे के लिए दो वर्ष की शर्त खत्म की जाए।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams