fog tourism

सर्दियों में सस्ते पैकेज के जरिए हिमाचल के हिल स्टेशनों में आ सकती है रौनक

देेवेंद्र गुप्ता । मंडी
राजधानी दिल्ली और अन्य उत्तर भारत के राज्य जिस तरह से प्रदूषण (स्माग) की चपेट में है उससे न चाहकर भी लोग घरों में ही दुबकने को मजबूर हैं । पंजाब से लेकर राजस्थान तक वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पहुंच चुका है। ऐसे वक्त में हिमाचल का पर्यटन उन्हें जीवनदान दे सकता है। आमतौर पर हिमाचल में ठंड बढ़ते ही पर्यटन कारोबार ठप हो जाता है। ऐसे में अगर सरकारी और निजी स्तर पर प्रयास किए जाए तो स्माग से भी सस्ता टूरिज्म निकल सकता है।

मंडी जिला में जंजैहली , बरोट , रिवालसर , कमलाह , और कई ऊंचे स्थान है, जहां पर लोग घूम सकते हैं। दिल्ली वालों को जिस तरह से छुट्टी पे छुट्टी देकर घर बिठाया जा रहा है । अगर उन्हें इन स्थानों तक पहुंचाने के लिए अगर प्रयास किया जाए तो उनके लिए राहत हो सकती है और पर्यटन व्यवसायियों चेहरे खिल सकते हैं। आमतौर पर हिमाचल में सर्दियों के दौरान होटल काफी खाली रहते हैं। ऐसे में प्रयास हो तो खाली बैठे भी अच्छा करोबार हो सकता है ।

विदेशों में भी है चलन – पर्यटन विशेषज्ञ

प्रदेश के पर्यटन विशेषज्ञ उमेश गौतम ने बताया कि विदेशों में भी इस तरह के प्रयास किए जाते हैं। इसे विदेश में इसे सनशाइन टूरिज्म का नाम दिया गया है। उन्होंने कहा अभी कुछ अरसा पहले उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी एक मेमेरोडम भेजा था, जिसमें प्रदुषण से जूझते लोगों को हिमाचल में लाकर सस्ते टूृरिज्म के जरिए उन्हे शुद्ध जलवायु दी जा सकती है । उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार ने इसकी प्रतिक्रिया भी भेजी थी ।

मध्यम वर्ग को खींचने का हो प्रयास2

अगर वीक एंड, हैल्दी लंग्ज, नियर टू नेचर आदी नाम देकर सस्ते पैकज बनाए जाए तो कम से कम इन शहरों का मिडिल क्लास पर्यटक घूमने आ सकता है। इस प्रयास से उन लोगों को जिंदगी दी जा सकती है जो धूएं में घुटकर जी रहे हंै। वहीं प्रदेश में होम स्टे योजना का लोग लुत्फ उठा सकते हैं ।

परिवहन विभाग की बढ़ सकती है कमाई

प्रदेश की बोल्वो से लेकर परिवहन विभाग की कई बसें दिल्ली और एनसीआर जाती है। अगर प्रदेश सरकार इन बसों पर टूरिजम हेल्पलाइन शुरू कर दे । इन्हीं के जरिए प्रदूषण से जुझ रहे लोगों का लाया जा सकता है। जिससे सर्दियों में इन बसों में यात्रियों की आवक बढ़ेगी । इससे प्रदेश में अन्य राज्यों की गाडिय़ों का प्रदूषण भी नहीं फैलेगा और सर्दियों में इस पर्यटन के जरिए धन वर्षा भी होगी। बहरहाल, दिल्ली में धुंध से हिमाचल में पर्यटन को बढ़ावा मिल सकता है बशर्ते इस पर प्रयास किए जाएं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams