News Flash
caged bears

अभी भी भालू के हमले से डरे हुए है जिल्हन पंचायत के लोग

ललित ठाकुर । पधर

जिल्हन पंचायत में भालू को पकड़ने के लिए वन विभाग द्वारा लगाये गए पिंजरे पहले तो कई दिन सड़क पर ही लावारिस पड़े रहे लेकिन बाद में उच्च अधिकारी के आने पर इन पिंजरों को वन विभाग के कर्मचारियों ने लोगो के खेतों में फेंक दिया। जिसका लोगों ने विरोध किया है। लोगो का कहना है कि पिंजरों को खेतो के बजाय वनों में लगाना चाहिए था। ताकि भालू पकड़ में आ जाएं और लोगो मे फैला डर का दहशत मिट जाए।

जिल्हन पंचायत की बीडीसी सदस्य सीता देवी, स्थानीय ग्रामीण नेक राम, अनिल, वेद प्रकाश, योग राज, अजय, मनु, नरेश, शिता राम और शीलू इत्यादि लोगो का कहना है कि मंगल दास की मौत के बाद एक व्यक्ति को भालू ने काट खाया है लेकिन वन विभाग अभी भी सुस्त रवैये से बाज नही आ रहा है । लोगों का कहना है कि विभाग ने पिंजरों को ऐसी जगह रख दिया है जहां पर भालू पकड़ने की कोई सम्भावना नही है । उन्होंने बताया कि पिंजरों को सही ढंग से और उपयुक्त जगह पर नही रखा गया है जिस कारण भालू पकड़ में नही आ रहे है ।

लोगों का कहना है कि इतनी बड़ी बड़ी घटना होने के बाबजूद भी कोई भी वन विभाग का कर्मचारी पिंजरे की देख रेख में नही आ रहा है ।

सीता देवी का कहना है कि भालू के दहशत से लोग अपने खेतों को भी नही जा रहे है वही अविभावकों ने बच्चो को आंगनबाड़ी केंद्रों में भेजना भी बंद कर रखा है । उन्होंने बताया कि भालू के डर से लोग इतने डरे है कि घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है ।

उन्होंने बताया कि भालू लोगों को आसपास के क्षेत्र में दिनदहाडे दिखाई दे रहे है लेकिन वन विभाग को बार बार बताने पर कोई भी कार्यवाई नही कर रहा है । उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को चेताते हुए कहा कि विभाग टीम भेजकर भालू को पकड़े । अन्यथा लोगों को मजबूरन वन विभाग के दफ्तर में धरना देना पड़ेगा ।

पिंजरे भारी होने के कारण इनको दूर नही ले जाया जा सकता । पिंजरे गिराने का कोई भी मामला मेरे ध्यान में नही आया है अगर ऐसी बात है तो इन पिंजरे को उठा दिया जाएगा और उचित स्थान पर लगाया जाएगा । एक व्यक्ति को भालू ने घायल किया था जिसे उपचार के बाद डाक्टरो ने घर भेज दिया है ।  – राजीव कुमार , डीएफओ जोगिन्दरनगर

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams