News Flash
Forest department not lifted cage, cat rape, huge rage in the villagers

ऊपरी इलाको में बर्फबारी होने के चलते जंगली जानवरों ने निचले क्षेत्र का किया रुख , लोगों में दहशत 

ललित ठाकुर । पधर : जिल्हण पंचायत के बाद अब चौहारघाटी में जंगली भालू का आतंक बढ़ गया है। चौहारघाटी के सुधार में भालू ने गत दिवस राह चलते एक युवक पर हमला कर दिया था। जिससे युवक के हाथ मे गहरे घाव आ गए थे ।

युवक का नेरचौक मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा है । ऊपरी पहाड़ो में बर्फबारी होने के चलते अब जंगली जानवरों ने निचले क्षेत्र का रुख कर दिया है जिस कारण अब जंगली भालू लोगो को अपना शिकार बना रहे है और कई लोगो को घायल कर मौत के घाट उतार दिया है । लेकिन वन विभाग अभी भी भालू को पकड़ने में सफलता हासिल नही कर पाएं है । उधर, शनिवार को चौहारघाटी के कथोग गांव के समीप जंगल मे भालू दिखने से लोगो मे एक बार फिर दहशत फैल गई है।
पंचायत उप प्रधान शेष राम ने बताया कि गांव की महिलाएं शनिवार दोपहर के समय साथ लगते जंगल मे अपने मवेधियों को चारा लाने गई थी। जहां महिलाओं ने जंगली भालू को देखा। भालू के खौफ से सभी महिलाएं चुपचाप बिना चारे के  बैरंग घर लौट आई। महिलाओं के मन मे  भालू का खासा खौफ हो गया है। लोग भालू के भय से घरों से बाहर निकलने से कतरा रहे हैं।
ग्रामीणों में रमेश चंद, रति राम, नरेन ठाकुर, आशा देवी, मंजू देवी, ओम प्रकाश, राजू राम इत्यादि लोगो का कहना है कि वन विभाग के कर्मचारी इस ओर कोई भी ध्यान नही दे रहे हैं। जिल्हण के दलौसा जंगल मे भी भालू को पकड़ने के लिए लगाए गए पिंजरे ऐसे ही लोगो के खेतों मे फैंके हुए हैं। वन विभाग के कर्मचारियों ने यहां पिंजरे रख कर महज औपचारिकता पूरी की है। जबकि इन पिंजरों को व्यवस्थित ढंग से नही लगाया गया है। उधर डीएफओ जोगिन्दरनगर ने भी पिंजरों को सही जगह पर लगाने की बात स्वीकारी थी लेकिन पिंजरे ज्यों के त्यों खेतो में पड़े है ।
जिल्हण की बीडीसी सदस्य सीता देवी ने कहा कि भालू के दहशत से लोग अपने खेतों में जाने से भी कतरा रहे हैं। वहीं अविभावक अपने नौनिहालों को आंगनबाड़ी केंद्र नही भेज रहे हैं। आदमखोर भालू के हमले से एक वृद्ध की जान जा चुकी है। जबकि तीन लोग पीजीआई चंडीगढ़ में उपचाराधीन हैं। फिर से भालू आसपास के क्षेत्र में दिनदहाडे दिखाई दे रहे है। लेकिन वन विभाग को बार बार बताने पर भी कोई सकारात्मक हल नही निकाल पा रहें है।
ग्रामीणों ने वन मंत्री गोबिंद ठाकुर से इस बारे में विभागीय अधिकारियों को उचित दिशा निर्देश देते हुए ग्रामीणों को भालू के खौफ से निजात दिलाने की गुहार लगाई है।
“वन विभाग ने पिंजरों को उठा कर स्थास्नीय जंगलो में लगा दिया है । जिससे भालू पकड़ने में सफलता हासिल हो सकती है । वन विभाग भालू को पकड़ने में पूरी तरह मुस्तेद है ।” 
 आरओ वन विभाग उरला बिट , हरदेव ठाकुर 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams