News Flash

प्रदेश कांग्रेस कमेटी में वही हो जो लोगों में महत्व रखता हो

सोनिया गांधी के कमेटियां भंग करने के निर्णय को सही बताया

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी द्वारा प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी को तत्काल प्रभाव से भंग करने के निर्णय को उचित ठहराया है। उन्होंने कहा है कि यह उचित समय मे लिया गया उचित कदम है। उन्होंने इस फैसले के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का आभार व्यक्त किया है। कांग्रेस आलाकमान के इस फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए वीरभद्र सिंह ने कहा कि वह पहले से ही इस बात पर जोर देते रहे है कि पार्टी में पदाधिकारी वह होना चाहिए जो आम लोगों के बीच अपना कुछ महत्व भी रखता हो। उन्होंने कहा कि जमोजट कार्यकरिणी बनाने से कुछ नही होता। कार्यकारिणी में अपने प्राय का नही केवल निष्ठावान कार्यकर्ताओं को पूरा महत्व दिया जाना चाहिए।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि पिछले 6 वर्षों में वह प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की मजबूती के लिए प्रदेश कार्यकारिणी को सही करने की बात करते रहे। समय रहते उनकी इस बात को अनदेखा किया गया। यही कारण रहा कि प्रदेश में कांग्रेस कमजोर होती चली गई। वीरभद्र सिंह ने कहा कि जो बीत गया सो चला गया। अब प्रदेश और देश में कांग्रेस पार्टी को मजबूत करने की बड़ी चुनौती है। प्रदेश में अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर के कंदो पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। पिछले लगभग एक वर्ष से जिस प्रकार वह प्रदेश में कांग्रेस की मजबूती के लिये कार्य कर रहें है वह तारीफ योग्य है। वीरभद्र सिंह ने कहा कि जल्द ही प्रदेश में ग्राम पंचायतों के चुनाव होने वाले है। इन चुनावों में हमें कांग्रेस पार्टी से जुड़े लोगों को आगे लाना होगा। उन्होंने कहा कि लोग कांग्रेस की राह देख रहे हैं।

Congress

कांग्रेस में व्यक्तिगत एजेंडे को अब कोई जगह नहीं: राठौर

संगठन में ऐसे लोगों को स्थान देने की जरूरत जो पूर्णकालिक हों

नए चेहरों के साथ ही काम करने वाले पुराने को भी मिलेगी जगह

हिमाचल दस्तक। शिमला

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि संगठन के पुनर्गठन से पार्टी मजबूत होगी। उन्होंने कहा कि संगठन में व्यक्तिगत एजेंडे के लिए कोई जगह नहीं है। जो लोग संगठन को आगे बढ़ाने के लिए आना चाहते हैं, उनका खुले दिल से स्वागत है। वे आएं और पार्टी के लिए काम करें। राठौर वीरवार को पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में बोल रहे थे। उन्होंने पार्टी हाईकमान द्वारा राज्य, जिला व ब्लॉक कार्यकारिणी को भंग करने के लिए निर्णय का स्वागत करते हुए इसे पार्टी हित में करार दिया। उन्होंने कहा कि अब नई टीम में काम करने वाले पुराने नेताओं के साथ-साथ नए लोगों को भी स्थान मिलेगा।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कार्यकारिणी भंग करने के पीछे कारणों को हाईकमान ही जानती है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद उन्हे टीम गठन करने का मौका नहीं मिला था। उन्होंने साफ किया कि नई कमेटी में संगठन में काम कर चुके लोगों को तो जगह मिलेगी ही। साथ ही बहुत सारे ऐसे नए जुझारु कार्यकर्ता भी हैं, जो संगठन में आकर कुछ नया करना चाहते है, उन्हे भी आगे आने का मौका दिया जाएगा। राठौर ने कहा कि दिल्ली में 14 दिसंबर को होने वाले प्रदर्शन में हिमाचल से अधिक से अधिक सं या में लोग भाग लेंगे। इसके लिए जल्द ही पार्टी के नेताओं के साथ बैठक की जाएगी, जिसमें प्रदर्शन को लेकर चर्चा की जाएगी।

sukhwinder singh sukhu

नई बिजली परियोजनाओं का विरोध करेगी कांग्रेस : सूक्खू

शिमला। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष व विधायक सुखविंद्र सिंह सूक्खू ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी हिमाचल प्रदेश में लगने वाली नई बिजली परियोजनाओं का पुरजोर विरोध करेगी। वह चाहे परियोजना एनटीपीसी, एनएचपीसी या फिर सजेवीएनएल की हो। उन्होंने भाजपा सरकार ने इन कंपनियों के साथ किए एमओयू में हिमाचल के हितों को बेचा है, जो प्रदेश के साथ खिलवाड़ है। पुरानी ऊर्जा नीति में बदलाव करने से भी भारी नुकसान हुआ है। पुरानी ऊर्जा नीति अनुसार 40 साल बाद बिजली प्रोजेक्ट सरकार के अधीन आने का प्रावधान था। मगर, भाजपा सरकार ने अब कंपनियों को लूट की खुली छूट दे दी है।

नई ऊर्जा नीति अनुसार अब सरकार को 40 साल बाद सिर्फ 25 प्रतिशत हिस्सा ही पावर प्रोजेक्ट का मिलेगा। 12 साल तक 12 प्रतिशत मुफ्त बिजली देने का प्रावधान भी खत्म कर दिया गया। अब सिर्फ 4 फीसदी बिजली ही मुफ्त मिलेगी। उन्होंने कहा कि नए बिजली प्रोजेक्ट लगने से प्रदेश को कोई वित्तीय फायदा नहीं, बल्कि घाटा होगा। ऐसे में सरकार नए प्रोजेक्ट किस मजबूरी में और किसे फायदा पहुंचाने के लिए लगा रही है, ये जनता को बताया जाए।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]