News Flash
fraud investigation

पूर्व सचिव हटे काम से, बीडीओ कार्यालय करेंगे रिपोर्ट

एडीसी रख रहे मामले पर पैनी नजर

प्रेम कौशल। अजौली
सदर विधानसभा क्षेत्र की मजारा पंचायत में लाखों रुपये के गोलमाल को लेकर एडीसी के आदेश के बाद जांच तेज हो गई है। जांच को पूर्व पंचायत सचिव प्रभावित न करें, इसके लिए उन्हें जांच के दौरान बीडीओ कार्यालय में रिपोर्ट करने के आदेश जारी हुए हैं। मजारा पंचायत के पूर्व सचिव वर्तमान में फतेहपुर पंचायत में बतौर सचिव सेवाएं दे रहे हैं, लेकिन गोलमाल को लेकर शुरू हुई जांच के चलते बीडीओ कार्यालय में रिपोर्ट करने के निर्देश मिले हैं, जिस पर सचिव अब बीडीओ कार्यालय में रिपोर्ट करेंगे।

जब तक जांंच चल रही है, तब तक बीडीओ ऑफिस में ही रहेंगे। गोलमाल के पूरे मामले को लेकर जहां बीडीओ जांच कर रहे हैं, वहीं एडीसी भी मामले पर पैनी नजर बनाए हुए हैं। उधर, जांच के चलते पूर्व सचिव के धुकधुकी बढ़ी हुई है।

वहीं इस मामले में पंचायत की प्रधान कोई टिप्पणी नहीं कर रही हैं, जबकि उपप्रधान इस मामले में उचित जांच की बात कर रहे हैं। उनका कहना है कि पैसे का आखिर क्या हुआ है, यह जांच से ही पता चलेगा, क्योंकि पंचायत में इसका कोई रिकॉर्ड नहीं है।

सिलाई मशीनों पर भी सस्पेंस

जिला परिषद सदस्य पंकज सहोड़ की सिफारिश पर जिला परिषद कार्यालय ने 7 सितंबर, 2017 को मजारा पंचायत के लिए 91 सौ रुपये बजट का प्रावधान सिलाई मशीन खरीदने के लिए किया, जो कि ग्राम पंचायत में चल रहे सिलाई सेंटर को मिलनी थी। फिलहाल इस पर भी अब सस्पेंस बना हुआ है कि यह सिलाई मशीन खरीदी गई या नहीं।

यह भी पढ़ें – जनलग के युवक ने फंदा लगाकर दी जान

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams