News Flash
garbage not disposed

बदबू ने लोगों का खाना-पीना व सोना किया दुश्वार

  • नगर परिषद ब्ददी व बीबीएनडीए की डंपिंग साइट ने लोगोंं की जिंदगी बना दी नर्क
  • न ही दबाया गया कूड़ा, न ही की स्प्रे

ऊमा धीमान। बद्दी
क्षेत्र के विकास का दावा करने वाले बीबीएनडीए और नगर परिषद बद्दी की लापरवाही के चलते पांच परिवारों के लोग नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं। क्षेत्र के कूड़े कचरे को डिस्पोज करने के लिए बद्दी बरोटीवाला नालागढ़ विकास प्राधिकरण (बीबीएनडीए) व नगर परिषद बद्दी ने केंदूवाल में डंपिंग साइट बनाई है। पहले तो विभाग ने रिहायशी मकानों के बिलकुल सामने डंपिंग साइट बना दी, जिसकी ग्रामीणों के विरोध के बाद चारदिवारी की गई। केंदूवाल स्थित इस डंपिंग साइट में हजारों टन कूड़ा कचरा एक महीने से डिस्पोज नहीं किया गया।

कूड़ा सडऩे के कारण जहां साइट के आधा किलोमीटर एरिया में बदबू फैली है, वहीं मक्खियों ने डेरा जमा रखा है। साइट में बेजुबान आवारा पशु मुंह मार रहे हैं और प्लास्टिक कचरा खाकर काल का ग्रास बन रहे हैं। डंपिंग साइट पर लापरवाही के चलते साइट के समीप बसे पांच हीर-गुर्जर परिवारों की जिंदगी नर्क बन गई है। आलम यह है कि बदबू से जहां पांच परिवार बदबू से परेशान हैं, वहीं बेतहाशा मक्खियों के चलते लोगों का जीना दूभर हो गया है।

केंदुवाल निवासी सुलेमान, बशीर, नबाब दीन, ईसा मोहम्मद, गुलाम नबी, अब्दुल सरताज, नवाबदीन, शगीना, हुस्न वानो, सुलेखा ने बताया कि प्रशासन ने उनके विरोध के बावजूद यहां पर डंपिंग साइट बना दी। उस समय विभाग ने साइट के उचित रखरखाव, कूड़े को समय समय पर डिस्पोज करने तथा स्प्रे करने का आश्वासन दिया था।

दरवाजे बंद करके भी गले नहीं उतरती है रोटी

लोगों ने बताया कि यहां बदबू के कारण सांस लेना मुश्किल है। घरों में मक्खियों का जमावड़ा है और उन्हें कमरों के दरवाजे बंद करके दो वक्त की रोटी खानी पड़ती है। कमरों को बंद करने के बावजूद भी अंदर बदबू रहती है और गले से रोटी उतरती नहीं। सुलेमान और नबाबदीन ने बताया कि काफी समय से यहां जमा कूड़े को दबाया नहीं गया है। वहीं न ही विभागीय कर्मचारी यहां पर रोजाना स्प्रे करते हैं। इसके चलते यहां गंदगी का आलम है और पशुओं के लिए भी यह डंपिंग साइट मौत का कारण बन रही है।

लंबे समय से हो रही है परेशानी

हीर गुर्जर परिवारों का कहना है कि वह लंबे समय से इस समस्या से जूझ रहे हैं। न तो कांग्रेस और न ही भाजपा नेता उनकी समस्या को लेकर गंभीर है। इस बार उन्होंने इसी आस से भाजपा को वोट डाली थी कि उनकी सुनवाई होगी और उन्हें नर्क से छुटकारा मिलेगा।

मैंने अभी दो दिन पहले ही कार्यभार संभाला है। अगर लोगों को डंपिंग साइट से कोई समस्या पेश आ रही है तो समाधान को कदम उठाए जाएंगे। जल्द कूड़े को डिस्पोज किया जाएगा और स्पे्र करवाई जाएगी। -केसी चमन, सीईओ, बीबीएनडीए

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams