News Flash
girl murder case

युवती की हत्या का मामला

पुलिस की कार्रवाई से नाराज परिजनों ने जमकर की नारेबाजी

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। धर्मशाला
जवाली के जोल में मंझग्राम की 20 वर्षीय युवती की हुई हत्या के मामले ने तूल पकड़ लिया है। पुलिस की कार्रवाई से नाराज परिजनों ने पोस्टमार्टम के उपरांत शव को पठानकोट-मनाली हाईवे पर सीयू चौक में रखकर धरना दिया। इस दौरान सीयू के छात्र भी मौजूद थे।
युवती के पिता अशोक कुमार, माता सरला देवी, चाचा बलदेव सिंह, अंकुश कुमार, अजय कुमार व अन्य लोगों एवं महिलाओं ने SP कांगड़ा के बयान पर आपत्ति जताई कि उनकी लड़की की हत्या में केवल एक व्यक्ति का हाथ है।

उन्होंने मांग की कि पुलिस मामले में अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार करे। उन्होंने आरोप लगाया कि शाहपुर थाने में भी परिजन गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाने गए, लेकिन उन्होंने कोटला थाने में भेज दिया। वहीं कोटला चौकी में मौजूद पुलिस कर्मचारियों ने कहा कि लड़की भाग गई है तो खुद ही शादी करके घर वापस आ जाएगी। मामला दर्ज करवाने के उपरांत भी पुलिस ने लड़की की तलाश नहीं की।

इस दौरान SP कांगड़ा के खिलाफ नारेबाजी भी हुई

परिजनों ने कहा कि शिमला के गुडिय़ा कांड की तरह अपराधी आजाद घूम रहे हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि वे गरीब परिवार से संबंध रखते हैं। केस को जारी रखने के लिए उनके पास पैसे नहीं हैं। प्रशासन इस मामले में उनकी मदद करके उन्हें न्याय दिलाए। इस दौरान SP कांगड़ा के खिलाफ नारेबाजी भी हुई।

SDM शाहपुर तथा ASP दिनेश कुमार जाम खुलवाने पहुंचे व परिजनों को भरोसा दिलाया कि जांच जारी है, उन्हें न्याय मिलेगा, लेकिन धरने पर बैठे लोगों ने एसपी कांगड़ा को बुलाने की मांग की। शाम को एसपी कांगड़ा संतोष पटियाल पहुंचे तथा उन्होंने जाम खुलवाया। एसपी युवती के परिजनों के घर भी गए व भरोसा दिलाया कि मुजरिमों को छोड़ा नहीं जाएगा। लगभग अढ़ाई घंटे तक चक्का जाम रहा, जिसमें सैकड़ों यात्री फंसे रहे।

पुलिस ने हत्यारोपी को किया गिरफ्तार

धर्मशाला/जवाली। युवती की हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझाने का दावा करते हुए हत्यारोपी को गिरफ्तार कर लिया है। यही नहीं पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया है। आरोपी शादीशुदा है तथा मृतका की बहन का रिश्तेदार है। SP कांगड़ा संतोष पटियाल ने रविवार को धर्मशाला में अपने कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि आरोपी की पहचान सरन दास उर्फ संजू (36) पुत्र जरम सिंह निवासी डोल के रूप में हुई है।

सरन दास के तीन बच्चे भी हैं। पुलिस के मुताबिक आरोपी रिश्ते में युवती का मामा लगता है। आरोपी सरण दास युवती की चाची का भाई है और वह दोनों एक-दूसरे को अच्छी तरह से जानते थे। SP के मुताबिक पिछले करीब दो साल से अधिक समय से इन दोनों के बीच में संबंध थे। आरोपी को कॉल डिटेल्स के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। युवती ने आखिरी कॉल आरोपी को ही की थी और उसके बाद उसका मोबाइल स्विच ऑफ हो गया था।

हत्या करने के उपरांत आरोपी पंजाब में किसी शादी में शामिल होने के लिए चला गया

जिस स्थान पर शव मिला है, वहां पर भी दोनों की मोबाइल लोकशन एक साथ मिली है। इसी के आधार पर पुलिस ने आरोपी को उसके ही गांव से गिरफ्तार कर लिया था। वहीं पुलिस के अनुसार आरोपी ने कहा है कि उसके युवती के साथ कुछ समय पहले से संबंध थे तथा वह बार-बार उसे शादी के लिए दबाव बना रही थी। ऐसे में अब वह उससे तंग आ गया था और उससे पीछा छुड़ाना चाहता था।

युवती से छुटकारा पाने के लिए वह 5 फरवरी को उसे जंगल में ले गया और अपने हाथों से उसका गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या करने के उपरांत वह पंजाब में किसी शादी में शामिल होने के लिए चला गया था। एसपी संतोष पटियाल ने बताया कि पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर इस मामले को 24 घंटों के भीतर ही सुलझा लिया है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams