shortage teachers

तीन हजार SMC शिक्षकों का अनुबंध समाप्त

संघ ने कहा, अनुबंध रिन्यू नहीं करना, पॉलिसी बनाए सरकार

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
प्रदेश में कार्यरत तीन हजार शिक्षकों का अनुबंध समाप्त हो गया है और दो हजार का अप्रैल माह में समाप्त हो जाएगा। इस कारण स्कूलों में चार हजार शिक्षकों की कमी हो सकती है। संघ ने साफ किया है कि वह हमेशा की तरह अनुबंध रिन्यू नहीं करना चाहते, लेकिन वह सरकार से उम्मीद करते हैं कि वह शिक्षकों के लिए पॉलिसी का निर्माण करें।

हालांकि SMC के जरिए शिक्षकों की आगामी भर्ती पर रोक है, लेकिन राज्य में एसएमसी के तहत जो शिक्षक कार्य कर रहे हैं उनके लिए एक नीति बनाने की मांग फिर से शिक्षक संघ ने उठाई है। गौर रहे कि चुनाव के दौरान SMC शिक्षक संघ ने भाजपा को समर्थन देने का ऐेलान किया था।

अब भाजपा की सरकार बनी है तो शिक्षकों ने भी अपनी आवाज उठानी शुरू कर दी है। संघ के अध्यक्ष अनिल पितान ने कहा कि अपनी मांगों को लेकर प्रदेश सरकार से संगठन मिल चुका है और मांगों को जल्द पूरा करने का आश्वासन मिला है। संघ ने मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री के समक्ष एसएमसी शिक्षकों के लिए नीति बनाने का आग्रह किया है।

शीतकालीन स्कूलों मेंं कार्यरत शिक्षकों का अनुबंध दिसंबर में समाप्त हो गया है। वहीं, ग्रीष्मकालीन स्कूलों में कार्यरत शिक्षकों का अनुबंध 31 मार्च का समाप्त हो रहा है। संघ का कहना है कि प्रदेश में लगभग चार हजार शिक्षक हैं, जिसमें सबसे ज्यादा उन स्कूलों में सेवाएं दे रहे हैं, जहां पर पक्की नियुक्ति वाले टीचर्स सेवाएं देने नहीं जाते हैं।

नतीजतन वहां बच्चों को पढ़ाने वाला कोई नहीं होता है। अब संघ ने नई बनी प्रदेश सरकार के समक्ष मांग रखी है कि अभी प्रदेश में कार्य कर रहे शिक्षकों के लिए नीति बनाई जाए।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams