News Flash
Government worker entangled in Compensatory leave

कुछ एसडीएम ने दो दिन की छुट्टी दी, तो कुछ ने नहीं

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : चुनाव ड्यूटी पर लगे कर्मचारियों को दो दिन की कंपेनसेटरी लीव देने को लेकर असमंजस फैल है। प्रदेश में कुछ एसडीएम ने पोलिंग पार्टियों को रिलीव करते हुए दो दिन के प्रतिपूर्ति अवकाश का आर्डर दिया है, तो कुछ ने ये अवकाश नहीं दिया है। इससे कई कर्मचारी खासकर शिक्षक परेशान हैं।

मतदान के लिए 18 और 19 मई को इन्होंने ड्यूटी दी है। ये दोनों दिन राजपत्रित अवकाश के थे। इसलिए इनके बदले इसी कैलेंडर ईयर में यह कंपेनसेटरी लीव इन्हें मिलनी थी। इसी असमंजस के बीच राजकीय अध्यापक संघ का एक प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को राज्य के मुख्य निर्वाचन कार्यालय पहुंचा और अपनी बात रखी। संघ का शिष्टमंडल अध्यापक संघ के राज्य अध्यक्ष वीरेंद्र चौहान की अध्यक्षता में अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डीके रतन से मिला और ज्ञापन दिया।

संघ इस दौरान फील्ड में तैनात शिक्षक कर्मचारियों को पेश आ रही दिक्कतों से भी समय-समय पर आयोग को राज्य व जिला स्तर पर अवगत करवाता रहा है, जिस में से अधिकतर सुझावों को चुनाव आयोग द्वारा उचित मानकर कर्मचारियों को तत्काल राहत दी है। परिणामस्वरूप शिक्षक इस बार तनाव मुक्त माहौल में छुट्टी वाले दिन भी काम करते रहे। लोकतंत्र के इस महापर्व के आयोजन के लिए प्रदेश के कर्मचारियों ने भी कंधे से कंधा मिलाकर छुट्टी वाले दिन भी मुस्तैदी से काम किया।

राजकीय अध्यापक संघ ने कहा कि प्रदेश में कुछ एसडीएम और उपसहायक चुनाव अधिकारी ने कर्मचारियों की इस जायज मांग की एवज में उनकी रिलीविंग के साथ लिखित तौर पर उन्हें नियमानुसार प्रतिपूर्ति अवकाश नहीं दे रहे हैं।

“शिक्षक संगठन के लोग कंपेनसेटरी लीव को लेकर मिले हैं। इस बारे में वस्तुस्थिति पता करने के बाद जल्द उपयुक्त आदेश जारी किए जाएंगे। “
-डीके रतन, अतिरिक्त राज्य निर्वाचन अधिकारी।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams