temperature dropping

चालक जान जोखिम में डालकर कर रहे सफर

हिमाचल दस्तक। मनाली
पर्यटन नगरी मनाली के पर्यटक स्थलों में तापमान में गिरावट आ गई है। तापमान लुढ़कने से रोहतांग दर्रे में बहते नाले जम गए हैं। कोठी और सोलंग गांव में भी पानी के चश्मे जमने लगे हैं। रोहतांग मार्ग पर पानी जम रहा है तथा बर्फ भी ठोस हो गई है। जान जोखिम में डालकर चालक किसी तरह गंतव्य तक पहुंचा रहे हैं। दर्रे में बर्फीली हवाएं चलने का दौर शुरू हो गया है। दर्रे में मौसम के बदले मिजाज को देखते हुए 12 नवंबर से मनाली से लाहुल के लिए बस सेवा बंद है।

तब से टैक्सी चालक ही लाहौलवासियों का सहारा बने हुए हैं। हर साल बीआरओ दिसंबर में मनाली-केलंग मार्ग पर बर्फबारी या दर्रा बंद होने तक मरम्मत कार्य करता था, लेकिन इस बार अक्टूबर में ही अपना सामान समेट लिया। हालांकि पैदल राहगीरों की मदद को प्रशासन ने मढ़ी और कोकसर में बचाव दल तैनात किए हैं, लेकिन वाहन चालक अपने दम पर लाहौल के लोगों को सेवाएं दे रहे हैं।

चालक रोकी अशोक, जवाहर तथा दोरजे ने माना कि बीच-बीच में कई बार वाहन बर्फ में फंसे उन्हें किसी तरह निकालकर आगे बढ़ते हैं। बर्फीली हवा चलने से सफर जोखिम भरा है। जब तक संभव होगा सेवा देते रहेंगे। कोकसर बचाव दल के प्रभारी पवन ने बताया कि सोमवार को साफ मौसम के बीच दर्रे में वाहनों की आवाजाही सुचारु रही। केलंग एसडीएम अमर नेगी ने बताया कि एक सप्ताह के भीतर एक हजार लोगों में रोहतांग दर्रा आर पार किया है। बचाव दल 31 दिसबंर तक सेवाएं देंगे।

यह भी पढ़ें – सीएम के दौरे को ऊना तैयार

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams