party leader

बिना बैनर और झंडों के लोगों को लुभाने में लगे कार्यकर्ता

शुक्रवार शाम 6 बजे सभी गाडिय़ों से झंडे भी उतार दिए चुनाव आयोग ने

सुरेंद्र कटोच। हमीरपुर
लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का प्रचार थम जाने के बाद नेताओं अब घर-घर जाकर दस्तक देना शुरू कर दी है। नेताओं की ओर से बिना बैनर व झंडों के अपना संदेश देने की कोशिश की जा रही है। शुक्रवार शाम छ: बजे के बाद सभी गाडिय़ों से झंडे भी उतार दिए गए है।

सबसे बड़ी बात यह है कि संबंधित पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने हर बूथ पर अपने-अपने तरीके से एक तरह से नाके भी लगा दिए हैं, ताकि जो गढ़ जिस पार्टी का है, वहां दूसरी पार्टी के कार्यकर्ता लालच का सामान न बांट दें। इस पर दोनों ही दलों की ओर से नजर रखी जा रही है। उधर, निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डॉ. ऋचा वर्मा ने बताया कि हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनावों के सुचारू संचालन के लिए सभी तैयारियां पूण कर ली है।

हमीरपुर में नहीं आया किसी भी पार्टी का कोई बड़ा नेता

पहली बार ऐसा हुआ कि दोनों ही प्रमुख दलों से जिला हमीरपुर में कोई भी बड़ा नेता नहीं आ पाया। हालांकि कार्यक्रम बनते रहे, लेकिन केंद्र कोई बड़ा नेता समय ही नही ंनिकाल पाया। चुनावी तूफान में मंडी, सोलन एवं ऊना स्टार प्रचारकों की पसंद में रहे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, आनंद शर्मा एवं नवजोत सिंह सिद्धू ने धुआंधार प्रचार कर रैलियों को संबोधित किया।

हमीरपुर में जहां भाजपा की ओर से प्रेम कुमार धूमल ने कमान संभाले रखी, वहीं कांग्रेस के नेतृत्व की डोर एक दूसरे के हाथ खिसकती रही। भोरंज में प्रोमिला वर्सिस सुरेश कुमार एक दूसरे को आंखें तक दिखाते रहे। ऐसे ही हमीरपुर के कांग्रेस के दो पूर्व विधायकों में चुनाव प्रचार करने को लेकर अपना- अपना दायरा बनाते नजर आते रहे।

48 घंटे तक शराब बिक्री बंद

मतदान संपन्न होने से 48 घंटे पूर्व शराब इत्यादि की बिक्री पर भी पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। इस दौरान किसी भी ठेके, अहाते, रेस्टोरेंट, ढाबे सहित अन्य स्थलों पर शराब की बिक्री नहीं की जा सकती है और इसकी उल्लंघना करने पर कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जा सकती है। इसके अलावा 23 मई को मतगणना वाले दिन भी ड्राई डे के चलते शराब की बिक्री पर प्रतिबंध रहेगा।

संसदीय क्षेत्र में 13,62,269 मतदाता, 1764 मतदान केंद्र

हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में 19 मई को कुल 13,62,269 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनमें 6,91,683 पुरुष तथा 6,70,579 महिला व 7 तृतीय जेंडर के मतदाता शामिल हैं। इनमें 24,245 सर्विस मतदाता हैं। पूरे संसदीय क्षेत्र में 7,908 दिव्यांग मतदाता भी अपने मत का प्रयोग करेंगे। मतदान केंद्रों में दिव्यांग मतदाताओं को निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सभी सुविधाएं दी जाएंगी। वृद्धजनों व धात्री महिलाओं की सुविधा के लिए भी विशेष प्रबंध किए गए हैं।

मतदान के लिए संसदीय क्षेत्र में 1764 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं, जिनमें से 85 शहरी व 1679 ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित हैं। यह मतदान केंद्र 1492 स्थलों पर स्थित हैं जिनमें से 56 शहरी व 1436 स्थल ग्रामीण क्षेत्रों में हैं। इसके अलावा 90 मतदान केंद्रों को क्रिटिकल, 231 दूरस्थ अथवा अधिक भीड़ वाले, तीन ऑग्जिलरी तथा 1440 मतदान केंद्र सामान्य श्रेणी में रखे गए हैं।

संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सभी 17 विधानसभा क्षेत्रों में दो-दो मतदान केंद्र पूर्ण रूप से महिला मतदान कर्मियों द्वारा संचालित किए जाएंगे। ऐसे कुल 34 मतदान केंद्र चिह्नित किए गए हैं। इसके अतिरिक्त 63 आदर्श मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं। 189 मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था की गई है।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams