harjeet gold medals

मार्शल आट्र्स नेशनल गेम्ज में बैजनाथ के होनहार ने दिखाया दम

शारदा आनंद गौतम। पालमपुर
मार्शल आट्र्स के नेशनल गेम्स में बैजनाथ के हरजीत ने दो स्वर्ण पदक जीत कर हिमाचल को फिर से गौरवान्वित किया है। दिल्ली में आयोजित नेशनल गेम्स में मिले इन दो स्वर्ण पदकों से हरजीत का एशियन गेम्स 2018 के लिए रास्ता क्लीयर हो गया है। साथ ही वल्र्ड मार्शल आट्र्स गेम्स 2019 में भी हरजीत अब देश का प्रतिनिधित्व करेगा। बैजनाथ के धानग गांव के इस युवा की जीत खास है, क्योंकि अभावों के बावजूद जहां हरजीत ने हिम्मत नहीं हारी, वहीं जीते गए दोनों स्वर्ण पदकों को जिला कांगड़ा के नूरपुर में हुए दुखद बस हादसे के मृतक बच्चों को समर्पित कर दिया है।

दिल्ली से हिमाचल दस्तक के साथ विशेष बातचीत के दौरान हरजीत ने बताया कि तीसरे नेशनल मार्शल आट्र्स में अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करवाते हुए इस मर्तबा दो स्वर्ण पदक जीते हैं। सीनियर वर्ग में पचास किलोग्राम में देश के 14 राज्यों के खिलाडिय़ों ने भाग लिया था। इस वर्ग में कड़े मुकाबले में उसका सामना उत्तर प्रदेश, उतराखंड, दिल्ली, असम, तमिलनाडू, कनार्टक और मध्य प्रदेश के खिलाडिय़ों से हुआ। उत्तर प्रदेश के खिलाड़ी के साथ हरजीत का अंतिम मुकाबला हुआ और उसमें विजयी रहते हुए उसने स्वर्ण पदक हासिल किया।

हरजीत ने कहा कि नूरपूर में हुए दुखद बस हादसे के मृतक बच्चों को वह अपने स्वर्ण पदकों को समर्पित करते हैं जिनके असमय ही सड़क हादसे में जान चली गई। गौरतलब है कि बैजनाथ उपमंडल के धानग गांव के युवा हरजीत बेहद साधारण परिवार से हैं। अमेरिका और साउथ अफ्रीका में भी हरजीत मार्शल आर्ट में अपने देश का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। यहां पर रजत पदक जीत कर वह जहां प्रदेश को गौरवान्वित कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें – जेबीटी के 700 पदों की भर्ती अटकी

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams