heli taxi

3 हेलिकॉप्टर मांगे सरकार ने, 18 कंपनियों ने जताई इच्छा

  • चयन के बाद होगा एग्रीमेंट, रूट और रेट 20 को तय होंगे
  • अभी शिमला-चंडीगढ़ के बीच चल रही है हेलिकाप्टर सेवा

आरपी नेगी। शिमला
शिमला से शुरू की गई हेलि टैक्सी सेवा को जयराम सरकार विस्तार देने जा रही है। शिमला-चंडीगढ़ के बाद अब धर्मशाला, मनाली और रोहतांग के लिए भी ये सेवाएं पर्यटकों के लिए शुरू की जा रही हैं। इसके लिए निजी कंपनियों से सरकार ने तीन हेलिकाप्टर मांगे हैं। ये तीनों अलग अलग कैटेगिरी और क्षमता के होंगे, जाकि जरूरत के अनुसार इन्हें प्रयोग किया जा सके। इस योजना को सिरे चढ़ाने के लिए 4 और 5 जुलाई को सामान्य प्रशासन विभाग यानी जीएडी, पर्यटन विभाग और प्राइवेट हवाई सेवा कंपनियों के साथ विस्तार से चर्चा भी हो गई है।

एक्सपे्रशन आफ इंटरेस्ट जारी होने के बाद कुल 18 कंपनियों ने इसमें इच्छा जताई है। प्रदेश सरकार अब हेलि टैक्सी के लिए 3 हेलीकॉप्टर शुरू करने जा रही है। हालांकि वर्तमान में सरकार को सेवाएं दे रही पवन हंस हवाई सेवा कंपनी ही शिमला से चंडीगढ़ और चडीगढ़ से शिमला के लिए उड़ान भर रही है, लेकिन आने वाले दिनों में धर्मशाला से चंडीगढ़ और मनाली से रोहतांग के लिए हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करने का प्रस्ताव तैयार किया है।

ये तीन तरह के हेलीकॉप्टर होंगे। पहला 5 सीटर, दूसरा 7 से 9 सीटर और तीसरा 18 से 20 सीटर हेलीकॉप्टर शुरू होना है। ऐसे में यात्रियों की संख्या के मुताबिक ही हेलीकॉप्टर की क्षमता तय होगी। हवाई सेवा कंपनियों के सुझाव पर प्रदेश सरकार ने पर्यटन विभाग के संयुक्त निदेशक को नोडल अधिकारी भी नियुक्त कर दिया है। हवाई सेवा कंपनियों ने सरकार को अवगत करवाया कि हेलीकॉटर लैंडिंग की स्वीकृति के लिए दिक्कतें आती हैं। इसे देखते हुए सरकार ने नोडल अधिकारी भी तैनात कर दिया। जो हवाई सेवा देने वाली कंपनी की सभी औपचारिकताएं पूरी करवाएंगे।

पवन हंस सहित 4 कंपनियों के पास तीनों हेलीकॉटर

प्रदेश सरकार की जरूरत के तीन कैटेगरी के हेलीकॉप्टर अभी 4 निजी कंपनियों के पास उपलब्ध हैं। वर्तमान में प्रदेश सरकार को सेवाएं दे रही पवन हंस कंपनी, ग्लोबल वेक्टर, यूटी एयर और हिमालया एयर नामक हवाई सेवा कंपनी के पास 5, 8 और 26 सीटर हेलीकॉप्टर उपलब्ध हैं। ऐसे में इन चारों में से किसी एक कंपनी का चयन होगा, जिसके साथ फिर एग्रीमेंट साइन होना है।

प्रदेश में हेली टैक्सी सेवाओं को और विस्तार देने के लिए राज्य सरकार ने करीब 18 कंपनियों से चर्चा की है। हमें तीन तरह के हेलीकॉप्टर चाहिए। इन सेवाओं के लिए 20 जुलाई के बाद रेट और रूट तय किए जाएंगे। शिमला के अलावा अब धर्मशाला, मनाली और रोहतांग के लिए हेली टैक्सी शुरू करने का प्रस्ताव है। -विनीत चौधरी, मुख्य सचिव।

यह भी पढ़ें – थाने में हथियार जमा करवाएं कब्जाधारी

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams