Himachal's son Anil Jaswal was martyred in Anantnag

सोमवार रात आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान हुए थे घायल, ऊना जिला के बंगाणा के सरोह गांव में पसरा मातम , आज पैतृक गांव पहुंचेगी पार्थिव देह

राम सिंह। लठियाणी : जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में सोमवार रात को सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में घायल हिमाचल के जवान अनिल जसवाल (27) भी शहीद हो गए हैं।

अस्पताल में उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। अनिल जसवाल उपमंडल बंगाणा के सरोह गांव के रहने वाले थे। 16 जून 1994 को अशोक कुमार के घर जन्मे अनिल जसवाल 6 वर्ष पहले 13 जैक राइफल के 3आरआर में भर्ती हुए थे। वह वर्तमान में जम्मू में कार्यरत थे। अनिल की शादी करीब दो साल पहले हुई थी। उनका एक छह माह का बेटा भी है। अनिल जसवाल के पिता अशोक कुमार भूतपूर्व सैनिक हैं।

अनिल की शहादत की सूचना मिलते ही पूरे जिला में शोक की लहर दौड़ गई है। शहीद अनिल का शव 19 जून को उनके पैतृक गांव ननावीं पहुंचने की उम्मीद है, जहां पर उनका विधिवत अंतिम संस्कार किया जाएगा। गौरतलब है कि सोमवार रात को अनंतनाग जिले में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में सेना के एक मेजर शहीद हो गए थे और एक अन्य अधिकारी एवं दो जवान घायल हुए थे। एक आतंकवादी भी मारा गया था।

सीएम जयराम ठाकुर ने जताया शोक

शिमला। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने ऊना के बंगाणा के रहने वाले शहीद अनिल कुमार जसवाल की शहादत पर शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि अनिल कुमार जसवाल ने आतंकियों से लड़ते हुए देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। राज्य सरकार शहीद जवान के परिवार की हरसंभव सहायता प्रदान करेगी।

अनुराग-कंवर ने किया शहादत को प्रणाम: केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोशल मीडिया के जरिए शहीद अनिल की शहादत को प्रणाम किया है। कैबिनेट मंत्री वीरेंद्र कंवर ने शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना जताई और कहा कि प्रदेश सरकार दुख की इस घड़ी में शहीद सैनिक के परिवार के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि सरोह निवासी 27 वर्षीय अनिल जसवाल ने आतंकियों से डटकर मुकाबला किया और एक बड़े ऑपरेशन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने कहा कि अनिल जसवाल के बलिदान को हमेशा याद रखा जाएगा।

पुलवामा का बदला : सजाद भट्ट समेत जैश के दो आतंकवादी ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में आतंकवादियों के साथ मंगलवार को हुई मुठभेड़ में पुलवामा हमले के सिलसिले में एक वांछित सजाद भट्ट सहित जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकवादी मारे गए और एक जवान शहीद हो गया। पुलिस ने यह जानकारी दी। एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर जिले के बिजबेहरा इलाके में आतंकवाविदयों की मौजूदगी के बारे में मिली खुफिया सूचना के आधार पर सुरक्षा बलों ने सुबह घेराबंदी और तलाश अभियान शुरू किया। आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलियां चलाईं।

जवाबी कार्रवाई के साथ ही मुठभेड़ शुरू हो गई। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में एक जवान घायल हो गया था जिसकी बाद में अस्पताल में मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि बिजबेहरा में अभियान में दो आतंकवादी मारे गए। उनकी पहचान सजाद भट्ट और तौसीफ भट्ट के रूप में की गई है और वे जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन से संबद्ध थे। अधिकारी ने बताया कि कई आतंकी अपराधों में शामिल रहने के अलावा सजाद भट्ट 14 फरवरी को पुलवामा के लेथपोरा इलाके में आत्मघाती कार विस्फोट के सिलसिले में भी वांछित था।

हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 40 जवान शहीद हो गए थे। अधिकारियों ने बताया था कि अनंतनाग जिले में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में सेना के एक मेजर शहीद हो गए थे और एक अन्य अधिकारी एवं दो जवान घायल हो गए थे। एक आतंकवादी भी मारा गया था। पिछले सप्ताह, जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने अनंतनाग में अद्र्धसैनिक बल के एक गश्ती दल पर हमला किया, जिसमें सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए।

पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड हमला, 8 घायल

पुलवामा। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड से हमला कर दिया। इस हमले में आठ स्थानीय नागरिक घायल हो गए हैं। उनको इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं पूरे इलाके की घेराबंदी कर आतंकियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। उधर द. कश्मीर के अनंतनाग में सुरक्षाबलों व आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई।

 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams