News Flash
Teacher

हिमाचल प्रदेश प्रशिक्षित स्नातक कला अध्यापक संघ में रोष

  • कहा, इस तरह के सेमिनार से होगी समय की बर्बादी
  • अध्यापकों को छात्रों को पढ़ाने का काम देना चाहिए

हिमाचल दस्तक। घुमारवीं

हिमाचल प्रदेश प्रशिक्षित स्नातक कला अध्यापक संघ ने शिक्षा विभाग के उस फैसले का कड़ा विरोध किया है, जिसमें छुटिटयों में सर्व शिक्षा अभियान के सेमिनार लगाने के आदेश जारी किए हैं। संघ का मानना है कि इस तरह के सेमिनारों से केवल और केवल समय बर्बाद होता है। संघ के प्रदेश प्रधान सुरेश पन्याली ने कहा कि संघ की एक बैठक में सेमिनार के इस मुद्दे पर शिक्षा निदेशक से विस्तार से चर्चा की गई थी। संघ ने सुझाव दिया था कि इस प्रकार के सेमिनार को कम से कम एक साल के लिए बंद कर देना चाहिए और अध्यापकों को केवल छात्रों को पढ़ाने का ही काम देना चाहिए।

संघ ने कहा है कि TGT से PGT पदोन्नति का जो कोटा बनता है उसे पूरा नहीं किया गया। मात्र 400 TGT से PGT बनाए गए जबकि हिमाचल प्रदेश में TGT का सबसे बड़ा 18000 का कैडर है। 4-9-14 की समस्या को विभाग हल करने में नाकाम रहा है। संघ के महासचिव सुरेश कौशल, वरिष्ठ उपप्रधान किशोर वर्मा, कोषाध्यक्ष संजय ठाकुर, मदन ठाकुर, जिला कांगड़ा के प्रधान ओम प्रकाश, ऊना के प्रधान संजीब राजन, सिरमौर के प्रधान सुभाष ठाकुर, बिलासपुर के दिग्विजय, चंबा के नीरज इत्यादि पदाधिकारियों मांग की है कि नियुक्ति की तिथि से सभी लाभ दिए जाएं तथा सभी को सुप्रीम कोर्ट केे आदेशों के अनुसार पेंशन के दायरे में लाया जाए। इसके अलावा जो टीजीटी 6 सालों में नियमित किए गए हैं उन्हें उसी तिथि से सभी लाभ दिए जाए।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams