Forest Guard

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा, पुलिस को बिसरा रिपोर्ट का इंतजार

  • वनरक्षक की हत्या की CBI से जांच करवाए सरकार
  • कॉल डिटेल खंगाल रही पुलिस, जहर देने के बाद पेड़ पर किसने लटकाया

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
करसोग वन मंडल की सेरी कतांडा बीट में फॉरेस्ट गार्ड मौत मामले में नया मोड़ आ गया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि जहर के बाद फॉरेस्ट गार्ड का गला भी घोंटा गया था। हालांकि पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट को ही अंतिम रिपोर्ट नहीं मान रही है। इसके लिए फारेंसिक लैब से बिसरा रिपोर्ट का इंतजार हो रहा है। मंडी फोरेंसिक लैब में बिसरा यानी कैमिकल विश्लेषण रिपोर्ट आने के बाद ही जांच की असली तस्वीर सामने आएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर गौर करें तो वन रक्षक ने पहले जहर खाया और उसके बाद किसी ने उनका गला घोंटा ।

जांच में जुटी पुलिस की टीम इस बात की पुष्टि नहीं कर रही है कि जहर खाने के बाद गला घोंट कर या किसी ने हत्या कर पेड़ पर लटका दिया। ऐसे में अब पुलिस को बिसरा रिपोर्ट का इंतजार है। बताया गया कि यह रिपोर्ट आगामी दस दिन बाद आएगी। उसमें पता चलेगा कि फोरेस्ट गार्ड ने पहले जहर खाया या फिर किसी ने हत्या की।

फिलहाल कथित पांचों आरोपी पुलिस रिमांड पर हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक फोरेस्ट गार्ड मौत मामले में सोमवार को पुलिस ने बीओ तेज सिंह सहित सेरी कतांडा गांव के अनिल, घनश्याम, लोभ सिंह और हेतराम से पूछताछ की। पुलिस के मुताबिक वन रक्षक होशियार सिंह की जेब से दो पन्नों को सुसाइड नोट और बैग से जहर की शीशी बरामद हुई थी। मगर अभी यह साबित नहीं हुआ कि होशियार सिंह ने आत्महत्या की या फिर किसी ने मर्डर किया।

पुलिस जांच पर उठने लगे सवाल

फॉरेस्ट गार्ड होशियार सिंह की निर्मम हत्या मामले की जांच कर रही पुलिस की कार्यप्रणाली पर कर्मचारी महासंघ ने सवाल खड़े किए हैं। हिमाचल प्रदेश अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष एसएस जोगटा ने पुलिस से मांग की है कि इस जांच में तेजी लाए और हत्यारों को सजा दी जाए। महासंघ ने सरकार से मांग की है कि इस मामले में वन विभाग के अफसरों को भी बर्खास्त करे।

फॉरेस्ट गार्ड मौत मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गई है, प्रारंभिक जांच में यह पाया गया कि जहर खा कर फोरेस्ट गार्ड का दम घुट गया। मंडी फोरेंसिक लैब से बिसरा रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा कि हत्या की गई या आत्म हत्या?
-कुलभूषण वर्मा, एएसपी मंडी।

गार्ड की हत्या के खिलाफ जंजैहली बाजार में प्रदर्शन

हिमाचल दस्तक । जंजैहली
जंजैहली के फॉरेस्ट गार्ड होशियार सिंह की कथित हत्या की जांच में ढील बरते जाने पर जहां होशियार सिंह का परिवार आहत है वहीं पूरी सराज घाटी के लोगों में इस पर काफी  गुस्सा है। गार्ड की हत्या के विरोध में सोमवार को जंजैहली बाजार में लोगों ने प्रदर्शन किया। इसमें ग्राम पंचायतों के प्रधान नारायण सिंह, अहिल्या कुमारी, कला देवी, स्थानीय पंचायत प्रधान यंजना कुमारी, युवक युवतियों व महिला मंडल तथा समाज सेवी संस्था से जुडे सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लिया । धरने प्रदर्शन के दौरान महिलाओं की आंखों से आंसू छलक रहे थे।Forest Guard

इनके परिजनों और क्षेत्र के लोगों ने गार्ड की ओर से आत्महत्या की बात को सिरे से खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि यह एक होनहार युवक था उसको ऐसी क्या नौबत आई की जहर खाकर मरने के लिए पेड़ पर चढऩा पड़ा । उन्होंने कहा कि बीओ बहुत ऊंची राजनीतिक पहुंच वाला व्यक्ति है । वह अपने बचाव के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। धरने में आए लोगों ने पूरे बाजार में प्रशासन के ढीले रवैये के खिलाफ प्रदर्शन किया और एसडीएम सराज अश्विन कुमार को ज्ञापन दिया ।

 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams