CID

आरोपियों को बेनकाब करने के लिए जुटी CID की टीम

मुगरू गलां एरिया के जंगलों से टीडी पर भी रोक

हिमाचल दस्तक। करसोग
फॉरेस्ट गार्ड मौत मामले की जांच करने के लिए प्रदेश CID की टीम शुक्रवार को कतांडा पहुंची। जांच में तेजी लाने और हत्या के आरोपियों को बेनकाब करने के लिए CID की टीम जुट गई है। इसके मद्देनजर शुक्रवार को दोपहर बाद घटना स्थल पर जांच टीम ने पूरी स्थिति का जायजा भी लिया। इस दौरान सीआईडी ने कतांडा स्थित फॉरेस्ट बीट में सेवाएं दे रहे चौकीदार से पूछताछ की हुई। हालांकि पुलिस मुख्यालय ने गत दिनों मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की थी, लेकिन दूसरे दिन ही केस CID को सौंप दिया।

बताया गया कि फॉरेस्ट गार्ड होशियार सिंह की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक जहर खाने से मौत होने की सभी पहलुओं को CID समीक्षा कर रही है। जांच टीम यह भी पता लगा रही है कि होशियार सिंह जहर खाने के बाद पेड़ पर उल्टा कैसे लटक गया और उसके शरीर में जख्म कैसे है? ऐसे में आने वाले दिनों में CID को सुराग मिलने की संभावना हैं।

वहीं दूसरी तरफ वन विभाग की जांच टीम इन दिनों कतांडा बीट में वन माफिया मसले पर छानबीन कर रही है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक वन विभाग ने इस घटनाक्रम को देखते हुए मुगरू गलां के जंगलों में लोगों को दिए गए TD अधिकार पर रोक लगा दी है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले वनरक्षक होशियार सिंह का शव पेड़ पर उल्टा लटका हुआ मिला था।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams