SDM

SDM सुखदेव सिंह बोले 90 दिन में करना होगा दावा

कहा, मृत्यु होने पर दी जाएगी दो लाख की राहत राशि

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। ऊना

किसी भी पुरुष व महिला द्वारा परिवार नियोजन के तहत करवाई गई नसबंदी के फेल होने की स्थिति में क्षतिपूर्ति के लिए 90 दिन के भीतर अपना दावा आवश्यक दस्तावेजों के साथ मुख्य चिकित्सा अधिकारी को प्रस्तुत किया जा सकता है। नसबंदी के फेल होने की स्थिति में परिवार नियोजन क्षतिपूर्ति योजना के अंतर्गत संबंधित व्यक्ति को बतौर क्षतिपूर्ति 30 हजार रुपये, जबकि जटिलता होने पर 50 हजार तथा नसबंदी के कारण मृत्यु होने पर दो लाख रुपये तक की राशि बतौर राहत प्रदान करने का प्रावधान है।

यह जानकारी SDM ऊना सुखदेव सिंह ने दी। SDM शुक्रवार को अपने कार्यालय में स्वास्थ्य विभाग की जिला गुणवत्ता आश्वासन समिति के तहत गठित परिवार नियोजन क्षतिपूर्ति उपसमिति की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। SDM बताया कि एक मामले में माननीय उच्चतम न्यायालय के आदेशों के तहत परिवार नियोजन सेवाओं में गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए राज्य व जिला स्तर पर गुणवत्ता आश्वासन समितियों का गठन किया गया है।

नसबंदी के फेल होने की स्थिति में क्षतिपूर्ति के लिए 90 दिन के भीतर….

इनका मुख्य उद्देश्य परिवार नियोजन कार्यक्रम के दौरान की जाने वाली नसबंदी की सेवाओं में गुणवत्ता सुनिश्चित करना है। उन्होंने बताया कि उपायुक्त की अध्यक्षता में गठित जिला गुणवत्ता आश्वासन समिति में CMO को समिति का कन्वीनर नियुक्त किया गया है। इसके अलावा समिति में प्रसूति, शिशु रोग विशेषज्ञों के अतिरिक्त एनेस्थेटिस्ट, सर्जन, जिला कार्यक्रम अधिकारी हेल्थ, मैटर्न, जिला न्यायवादी को भी शामिल किया गया है।

बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रकाश दडोच, जिला कार्यक्रम अधिकारी हेल्थ डॉ. सुखदीप सिंह सिद्धु, जिला न्यायवादी अशोक धीमान, डॉ. एसके नंदा, सर्जन पीयुष नंदा, शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. विपन शर्मा, एनेस्थेटिस्ट डॉ. सुमित दुबे, मैटर्न परमजीत, स्वास्थ्य शिक्षक गोपाल कृष्ण, कान्ता ठाकुर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। बहरहाल कसी भी पुरुष व महिला द्वारा परिवार नियोजन के तहत करवाई गई नसबंदी के फेल होने की स्थिति में क्षतिपूर्ति के लिए 90 दिन के भीतर अपना दावा आवश्यक दस्तावेजों के प्रस्तुत किया जा सकता है।

21 सौ व्यक्तियों की हुई नसबंदी

SDM ने बताया कि स्वास्थ्य संस्थानों में नियमित तौर पर परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत नसबंदी के लिए प्रतिमाह शिविर लगाए जा रहे हैं। गत वर्ष मार्च 2017 तक इन परिवार नियोजन शिविरों में जिला ऊना में लगभग 21सौ व्यक्तियों की नसबंदी की गई है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams