HRTC

अर्की-शीलघाट रूट पर बस की छत पर सफर करने को मजबूर लोग

हिमाचल दस्तक,दाड़लाघाट।। HRTC प्रदेश में हो रहे बस हादसों से सबक नहीं ले रहा है। परिवहन निगम की लापरवाही के चलते लोगों को बसों की छतों पर सफर करना पड़ रहा है। इससे जहां एक ओर परिवहन निगम में सरेआम ओवरलोडिंग हो रही है वहीं दूसरी ओर ट्रेफिक व्यवस्था की धज्जियां उड़ रही है।

  • सरकारी बसों में ओवरलोडिंग हादसे को दे रही न्योता
  • इस रूट पर स्कूली बच्चे करते है अधिक सफर

अर्की -शीलघाट रूट पर चलने वाली पथ परिवहन निगम की बस में रोजाना क्षमता से अधिक सवारियां बिठाई जा रही है। जो कि किसी बड़े हादसे को न्यौता दे रही है। हैरत इस बात की है कि सरकारी तंत्र आंखें मूंद कर बैठा है।

इन बसों में ज्यादातर कालेज व स्कूलों के बच्चे सवार

हालांकि स्थानीय लोग कई बार इस बारे शिकायत भी कर चुके हैं। बावजूद इसके कोई संज्ञान नहीं लिया जाता। गौर रहे कि अर्की के अनेक ऐसे गांव हैं जहां दिन में 1 या 2 बसें रूट पर चलाई गई हैं। जहां सवारियों की तादाद बसों की सख्या से ज्यादा है वहीं वाहन के आवागमन का समय भी लोगों के हिसाब से न होने के चलते लोग अपने गंतव्य पर पहुंचने के लिए बसों में चढ़ते है।

प्राइवेट तथा सरकारी वाहन चालक भी ज्यादा कमाई के चक्कर मे बसों में क्षमता से अधिक सवारियों को नियमों को ताक पर रखकर ले जा रहे है। आज जहां सरकार ने हर गावं- कस्बो के लिए सड़क की उपलब्धता सुनिश्चित करने की ठानी है वहीं उन जगहों तक प्रयाप्त ट्रांसपोर्ट सुविधा न होने से लोगों की आवाजाही में परेशानी का कारण बन रही है। ऐसे में जो लोग मजबूर होकर छतों पर सफर करने को मजबूर है उनकी जान जोखिम पर बनी हुई है। इन बसों में ज्यादातर कालेज व स्कूलों के बच्चे सवार होते है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams