News Flash
HRTC RM

बेकिंग पाउडर निकला चिट्टा, RM रिहा

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
नाके पर करोड़ों की कीमत का चिट्टा पकडऩे का दावा करने वाली शिमला पुलिस की मिट्टी पलीद हो गई है। 30 अप्रैल की रात 12.45 बजे शोघी में सरकारी वाहन से पकड़ा गया 4.400 किलोग्राम मादक पदार्थ चिट्टा लैब में बेकिंग सोडा निकला है। फॉरेंसिक लैब से ये साबित होने के बाद कोर्ट ने इस केस में आरोपी HRTC के RM सोलन MS राणा को निजी मुचलके पर रिहा कर दिया। वह न्यायिक हिरासत में थे। SHO बालूंगज ने खुद इन्हें छोडऩे का आवेदन कोर्ट मेें किया था।

जेल से छूटने के बाद MS राणा शुक्रवार को मीडिया के सामने आए और पुलिस के खिलाफ 50 लाख रुपये का मानहानि का मुकदमा दायर करने का ऐलान किया है। राणा ने जो खुलासे इस केस में किए हैं, वो भी पुलिस की वर्दी पर कई दाग लगा रहे हैं। राणा ने कहा कि पुलिस ने उनसे 5-6 लाख रुपये ऐंठने के लिए ये षडयंत्र रचा। वास्तविकता यह थी कि जिस रात पुलिस ने उनकी सरकारी गाड़ी से चिट्टा मिलने का दावा किया उस दौरान न तो वह और न ही उनकी गाड़ी वहां थी।

उनकी सरकारी गाड़ी बोलेरो एचपी 64 ए 0336 में लगे GPS से ये बात साफ है। इतना ही नहीं पुलिस द्वारा उनकी गाड़ी से जो पदार्थ, चिट्टा बरामद होने का दावा किया गया था वह फॉरेंसिक जांच में बेकिंग सोडा निकला। ये भी पुलिस ने ही कहीं से लाया और मेरी गाड़ी में मिला हुआ दिखाया। राणा ने कहा कि पुलिस के इस षडयंत्र के कारण उन्हें 72 दिन न्यायिक हिरासत में रहना पड़ा और पूरे परिवार को बदनामी झेलनी पड़ी।

HRTC ने बहाल कर आरएम हमीरपुर लगाया

HRTC ने एमएस राणा के निलंबन आदेश वापस लेते हुए इन्हें RM हमीरपुर नियुक्त किया है। राणा ने कहा कि वह इस संदर्भ में जल्द ही परिवहन मंत्री जीएस बाली से भी मिलेंगे और अपनी बात रखेंगे। MS राणा ने बताया कि HRTC का भी एक बड़ा अधिकारी इस षडयंत्र में शामिल है। इसका खुलासा वह बाद में करेंगे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams