HSBC will provide 32 years of service to HASI

500 पुलिस जवान होंगे लाभान्वित,  मीडिया से बात करते हुए सीएम जयराम ठाकुर ने दी जानकारी, शिमला के भराड़ी में खुलेगी पुलिस अकादमी

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला : प्रदेश सरकार ने राज्य पुलिस विभाग में मानद सहायक उप-निरीक्षक यानी एचएएसआई के पद सृजित करने का फैसला किया है। इसमें 32 वर्ष की सेवा अवधि वाले एचएचसी और हेड कांस्टेबल को मानद सहायक उप निरीक्षक के पद पर तैनाती दी जाएगी। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मीडिया से बात करते हुए यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि पुलिस के राजपत्रित अधिकारियों के प्रशिक्षण के लिए शिमला के भराड़ी में पुलिस प्रशिक्षण अकादमी खोले जाने का भी प्रस्ताव है। उन्होंने का कि वर्ष 2002 में भाजपा सरकार ने ही राज्य पुलिस में मानद मुख्य आरक्षी के पद को भी स्वीकृति दी थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी मानद सहायक उप निरीक्षक जिला और बटालियन मुख्यालयों में दो सप्ताह का प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे। मानद सहायक उप निरीक्षक, सहायक उप निरीक्षक की वर्दी, बैज और स्टार भी धारण कर सकेंगे। जयराम ठाकुर ने कहा कि इस निर्णय से लगभग 500 पुलिस कर्मी लाभान्वित होंगे और इस पर कुल 8.30 लाख रुपये का सालाना वित्तीय खर्च आएगा।

मानद सहायक उप निरीक्षकों को प्रति माह 200 रुपये का विशेष वेतन मिलेगा और 32 वर्ष की सेवा वाले सभी कर्मियों को मानद सहायक उप निरीक्षक पद से सेवानिवृत्त होने का अवसर मिलेगा। इससे न सिर्फ इनके आत्म सम्मान को बल मिलेगा बल्कि समाज में एक ऊंचे ओहदे से सेवानिवृत्त होने का संतोष रखेंगे। उन्होंने कहा कि इस निर्णय से पुलिस में कार्यरत कर्मचारियों एवं अधिकारियों का मनोबल भी बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश पुलिस बल में 70 प्रतिशत से अधिक आरक्षियों और मानद मुख्य आरक्षियों की संख्या है।

मानद सहायक उप निरीक्षकों से न सिर्फ पुलिस अन्वेषण करवाया जा सकेगा, बल्कि राज्य पुलिस के पास कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए भी अधिक संख्या मेंं सहायक उप निरीक्षक उपलब्ध होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस के राजपत्रित अधिकारियों के प्रशिक्षण के लिए शिमला के भराड़ी में एक पुलिस प्रशिक्षण अकादमी की स्थापना का प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है।

पुलिस प्रशिक्षण केंद्र डरोह के बाद यह प्रदेश में दूसरी अकादमी होगी। वर्तमान में प्रदेश काडर के आईपीएस तथा एचपीएस अधिकारियों को प्रशिक्षण के लिए हरियाणा या पंजाब जाना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस अकादमी के माध्यम से उच्च कोटी का प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए प्रर्याप्त मानव संसाधन की उपलब्धता है। पुलिस महानिदेशक एसआर मरडी और राज्य पुलिस के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams