News Flash
daughter woman

न सिर पर छत और न ही दो वक्त की रोटी का कोई साधन

पीडि़ता ने SP से लगाई इंसाफ की गुहार

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। बद्दी
आज एक शातिर की करतूतों के कारण एक महिला आंखों में आंसू और गोद में बेटी को उठाकर सड़कों पर धक्के खाने को मजबूर है। सोमवार को एक ऐसा मामला SP बद्दी के कार्यालय में पहुंचा है, जो लव-शादी और फिर धोखे की कहानी को बयान कर रहा है। कांगड़ा निवासी पीडि़त नीलम कुमार ने एसपी बद्दी को दी शिकायत में बताया कि सज्जन सिंह निवासी वार्ड नंबर-5 नालागढ़ ने पहले तो उसे प्रेम जाल में फंसाया और बहला फुसलाकर नालागढ़ में उसे साथ रखा।

महिला के पास रहने को छत है और न ही दो वक्त की रोटी का कोई आसरा

इसके बाद महिला ने एक बेटी को जन्म दिया और उसे और उसके बच्चे को बाप का नाम देने के दवाब के बाद सज्जन सिंह ने उसके साथ दिखावे की शादी कर ली और अपने घर ले गया। कुछ दिनों बाद सज्जन सिंह व उसके परिवार ने उसे बेवजह तंग करना शुरू कर दिया। पीडि़ता ने बताया कि उसे खर्चे से तंग रखा जाने लगा और उसका जमकर उत्पीडऩ किया गया। महिला ने बताया कि आज तक उसका और उसकी बेटी का नाम राशनकार्ड और पंचायत रिकॉर्ड में दर्ज नहीं है।

महिला ने बताया कि उसका पति कई दिनों से गायब है और परिवार ने उसे धक्के मारकर घर से निकाल दिया है। आज वो अपनी बच्ची को गोद में लेकर पति को ढूंढ रही है और इंसाफ के लिए ठोकरें खा रही है। इन उसके पास रहने को छत है और न ही दो वक्त की रोटी का कोई आसरा। पुलिस को शिकायत देने के बाद भी पुलिस कोई सुनवाई नहीं कर रही, जिसके बाद उसे एसपी कार्यालय पहुंचने को विवश होना पड़ा।

महिला की शिकायत एसपी कार्यालय आने के बाद उसे संबंधित थाने को भेजकर जांच के आदेश जारी किए गए हैं। महिला के पति से भी पूछताछ की गई है, जो उसे घर ले जाने को तैयार है। पुलिस मामले की पूरी छानबीन में जुटी है, ताकि महिला को इंसाफ मिल सके।
-राहुल नाथ, एसपी जिला पुलिस बद्दी।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams