murder case

हाईकोर्ट ने सुरक्षित रखा फैसला, दोनों पक्षों में चली लंबी बहस

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
बहुचर्चित गुडिय़ा रेप और मर्डर केस के आरोपी सूरज की पुलिस लॉकअप में हुई मौत के मामले में हिरासत में चल रहे पूर्व IG जहूर जैदी की जमानत याचिका पर हाइकोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। शुक्रवार को दोनों पक्षों की ओर से इस मामले पर लंबी बहस हुई। CBI की ओर से जमानत का विरोध किया गया और दलीलें पेश की गई। न्यायाधीश संदीप शर्मा ने दोनों पक्षों के वकीलों की दलीलें सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया।

गुडिय़ा रेप और हत्या मामले के आरोपी सूरज की पुलिस लॉकअप में हुई मौत के मामले के आरोपी IG जैदी ने जमानत के लिए याचिका दायर की है। जहूर जैदी समेत कुल 9 पुलिस कर्मी इस मामले में CBI ने गिरफ्तार किए थे और ये सभी न्यायिक हिरासत में हैं। इस मामले में जैदी समेत कुल आठ पुलिस कर्मियों के खिलाफ CBI ने कोर्ट में चालान पेश कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि 6 माह पूर्व यानी चार जुलाई को बिटिया स्कूल से जाने के बाद लापता हो गई थी और छह जुलाई की सुबह उसका शव महासू के समीप जंगल में मिला था। इसके बाद प्रदेश पुलिस की SIT ने भी राजू समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें से एक आरोपी सूरज की पुलिस लॉकअप में हत्या हो गई थी और इसका आरोप भी इसी राजू पर लगा था।

इसके बाद मामला CBI को चला गया था और उसकी जांच में SIT से आठ अफसर व कर्मचारी सूरज की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किए गए थे। इसी केस में पुलिस लॉकअप में हुई सूरज की हत्या केस में गत 16 नवंबर को शिमला के पूर्व SP डीडब्ल्यू नेगी को CBI ने गिरफ्तार किया गया था। सभी आरोपी पुलिस वाले इन दिनों न्यायिक हिरासत में चल रहे हैं।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams