News Flash
heavy snow falls

केलांग में दो इंच हिमपात, मनाली-केलांग मार्ग पर ट्रैफिक बंद

मैदानों में बारिश से शीतलहर तेज, कारोबारियों को बेहतर कारोबार की जगी आस

हिमाचल दस्तक। मनाली
लाहौल घाटी में बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। रोहतांग दर्रे में भारी बर्फबारी को देखते हुए मनाली-केलांग मार्ग पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई है। केलांग में अब तक दो इंच बर्फ गिर चुकी है। मनाली और लाहौल घाटी में मौसम ठंडा हो गया है। मनाली के मकरवे, शिकरवे, सेवन सिस्टर पीक, मनाली पीक, लद्दाखी पीक, देऊ टिब्बा, हनुमान टिब्बा, मांगण कोट, धुंधी जोत, रोहतांग की ऊंची चोटियों पर सफेद चादर बिछ गई है। चोटियों में हो रहे ताजा हिमपात से मनाली में दिवाली पर्यटन सीजन के लिए एक संजीवनी का काम करेगा।

22 सितंबर को हुई बर्फबारी से मनाली लेह मार्ग बंद हो गया था, लेकिन बीआरओ ने अक्तूबर के पहले सप्ताह मार्ग बहाल कर दिया। तब से आज तक लेह से मनाली के बीच छोटे वाहनों की आवाजाही जारी थी, लेकिन अब शुरू हुई बर्फबारी से लेह मार्ग बंद होने की आशंका बढ़ गई है। बता दें कि मनाली के पर्यटन व्यवसायी राम लाल, राहुल, पूर्ण और विक्रम ने बताया कि वीरवार को चोटियों में हिमपात और घाटी में बादल छा जाने से घाटी का मौसम सुहावना हो गया है। मनाली के पहाडिय़ों में बर्फबारी से घाटी में ठंड बढ़ गई है।

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि दशहरा सीजन में पर्यटन कारोबार गति नहीं पकड़ पाया है, लेकिन पहाड़ों में बर्फबारी होने से दिवाली में कारोबार बेहतर रहने की उम्मीद है, दूसरी ओर दशहरा पर्व को लेकर कुल्लू-मनाली आए लेह के लोगों ने भी मौसम खराब होता देख घरों का रुख कर लिया है। बीआरओ ने भी सरचू से अपना सामान समेत लिया लिया है, साथ ही प्रशासन ने भी 15 अक्तूबर को मनाली लेह वाहनों के लिए आधिकारिक तौर पर बंद कर दिया है।

प्रशासन ने जारी किया अलर्ट

कुल्लू। जिला कुल्लू की ऊंची चोटियों पर बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश से कुल्लू जिले में शीत लहर तेज हो गई है। मौसम के खराब रुख को देखते हुए जिला प्रशासन ने 3 और 4 नवंबर के लिए अलर्ट जारी किया है। जिलाधीश यूनुस ने बताया कि मौसम विभाग नेे जिला में 3 और 4 नवंबर को बारिश और बर्फबारी की चेतावनी जारी की है। इसको देखते हुए जिलावासी विशेषकर ऊंचे क्षेत्रों में रहने वाले लोग ऐहतियात बरतें और बर्फबारी के दौरान ऊंची पहाडिय़ों की ओर न जाएं। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की आपदा की स्थिति में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के टॉल फ्री नंबर 1077 पर संपर्क किया जा सकता है।

बर्फ के फाहे देख चहके पर्यटक

मनाली। पर्यटन नगरी मनाली की ऊंची चोटियों पर एक बार फिर बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। जहां पर मनाली की ऊंची चोटियों व रोहतांग दर्रे पर बर्फ गिर रही थी वहीं दुसरी ओर मनाली घूमने आए सैलानी भी बर्फ के फहे गिरते देखकर काफी खुश हुए और खुशी से झुमने हुए नजर आए। सैलानियों ने गुलाबा में ताजा हिमपात का आनंद लिया और बर्फ के साथ खूब मस्ती की।

सैलानियों का कहना है कि उन्होंने पहली बार आसमान से बर्फ को गिरते देखा है। वहीं पहाड़ों पर हुई ताजा बर्फबारी से मनाली घूमने आने वाले सैलानियों को मनाली का ठंडा मौसम काफी पसंद आ रहा है। वहीं लाहौल-स्पीति में भी शुक्रवार को मौसम खराब ही बना रहा। यहां बारालाचा, सरचू, चंद्रताल व सूरजताल में भी बर्फबारी का दौर जारी रहा।

बारिश-बर्फबारी से चहके किसान बागवान

देशराज कौशल। कुल्लू
मौसम के अचानक करवट बदलने से कुल्लू में शील लहर का आगाज हो गया है अचानक हुई बरिश से पहाडों में बर्फ की चादर बिछ गई है। बता दें कि शुक्रवार को सुबह अचानक तेज बारिश हुई। जिससे निचले इलाकों में शीत लहर का आगज हो गया हैं। लोग घरों में दुवक कर रह गए है। लोगों को आग और हीटर का सहारा लेना पड़ रहा है। एक ओर अचानक हुई बारिश से शीत लगह का आगाज हुआ तो दुसरी ओर किसान अचानक हुई बारिश से बहुत खुश है।

किसान मोहर सिंह, विनोद, मोहन, सोनू का कहना है कि बारिश उनके के लिए बरदान की तरह साबित हुई है। जिससे किसानों को इस बार अच्छी पैदावार होने की भी उम्मीद है। साथ ही मुल्ली पालक और साग की फसल को भी अचानक हुई बारिश से बहुत लाभ हुआ है। बता दें कि दिन भर जम कर बारिश हुई जिस कारण मौसम विभाग का कहना है। कि अगले दो दिनों मेंं मौसम खराब और भारी बारिश होने की आशंका है।

यह भी पढ़ें – महिला और बच्चे ने निगला विषाक्त

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams