Himachal Haryana

चोर रास्तों की बदौलत फूल रहा है अवैध करोबार का धंधा

हिमाचल दस्तकर। नैनाटिक्क्रर

जिला सिरमौर की सीमाओं से सटे हरियाणा राज्य को जोडऩे वाले संपर्क मार्ग टैक्स चोरों तथा अवैध कारोबार करने वालों के लिए वरदान बनें हुए है। जिला की पच्छाद तहसील को हरियाणा राज्य से जोडऩे वाले संपर्क मागों से जहां शराब माफिया की सक्रियता पुलिस प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती बनी हुई है, वहीं प्रदेश के कई व्यापारी इन्हीं संपर्क मार्गो के माध्यम से बिना कर चुकाये प्रदेश में करोड़ों रूपयों का सामान लाकर बेच रहे हैं।

हरियाणा राज्य से सटे पच्छाद तहसील, जिला सोलन व शिमला के लिए अवैध रूप से टैक्स न चुकाये ही करोड़ों रूपये का सामान ढोया जा रहा है।  आलम यह है कि गरीबों के जेबों पर कैंची चलाने वाले टैक्स चोर दिनोंदिन अमीर होते जा रहे हैं। इन सम्पर्क मार्गों पर कोई भी चैकपोस्ट न होने के कारण हरियाणा-पंजाब की शराब जहां प्रदेश के सिरमौर, शिमला में पहुंचाई जा रही है। इन्हीं सम्पर्क मार्गों की मार्फत भारी मात्रा में परचून, कोसमेटिक, रेडीमेड गारमैंटस, इलैक्ट्रिनिक सामान बिना टैक्स चुकाये प्रदेश में बेचा जा रहा है।

क्षेत्र बैरियर मुक्त होने के कारण अवैध कारोबारियों के लिए चांदी कूटने का जरिया बना हुआ

सूत्रों के मुताबिक सराहां-चंडीगढ़ तथा बनालग-मोरनी संपर्क मार्ग  चैकपोस्ट न होने के कारण क्षेत्र में कालाबाजारी तथा टैक्स चोरों की पौ बारह हो रही है।  गौरतलब है कि सिरमौर का अधिकतर सीमावर्ती हिस्सा हरियाणा राज्य के साथ सटा हुआ है तथा पूरे सीमा क्षेत्र में कालाअंब में एक मात्र बैरियर स्थापित किया गया है। इसके अलावा हिमाचल-हरियाणा का पूरा सीमावर्ती क्षेत्र बैरियर मुक्त होने के कारण अवैध कारोबारियों के लिए चांदी कूटने का जरिया बना हुआ है ।

यदि दोनों राज्यों की सरकारें सीमावर्ती क्षेत्र में बैरियर स्थापित करती हैं।  तो सालाना लाखों रूपये का राजस्व सरकारी खजाने में जा सकता है तथा अवैध कारोबार पर नकेल कसी जा सकती है। उधर थाना प्रभारी पच्छाद जयराम डोगरा ने बताया कि पुलिस सीमावर्ती क्षेत्रों में गश्त करके पूरी चौकसी बनाये हुये है। समय-समय पर अस्थायी नाके लगाकर शराब माफिया पर शिकंजा कसा जा रहा है । आरआर अत्रि, नैनाटिक्कर 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams