Local people rushing with doctor's deputation in primary health center

सेवा आश्रय संगठन के पदाधिकारियों ने सरकार व विभाग से मांगा स्थाई डाक्टर , अन्यथा धरना प्रदर्शन 

ललित ठाकुर । पधर : प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पाली में डाक्टर न बैठने से अपना उपचार करने आ रहे लोगो को खासी परेशानी झेलनी पड़ रही है । विकास खण्ड द्रंग की ग्रांम पंचायत पाली में सरकार ने करोड़ो रूपये से आलीशान भवन तो बना डाला लेकिन उसमें उपचार करने आ रहे लोगो को सही तरीके से उपचार नही मिल रहा है ।

भाजपा सरकार ने पाली स्वास्थ्य केंद्र में डाक्टर की नियुक्ति तो कर दी लेकिन पधर अस्पताल में डाक्टर न होने से अब उनको डेपुटेशन में पधर बुला रहे है जिस कारण पाली पंचायत के साथ साथ कुन्नू , त्र्याम्बली और टान्डू पंचायत के लोगो को अपना उपचार करने पधर या मंडी जाना पड़ रहा है जिस कारण लोगो को पैसों के साथ साथ समय भी बर्बाद करना पड़ रहा है ।
सेवा आश्रय संगठन के अध्यक्ष लोकेश ठाकुर , जनरल सेकेट्री हेम सिंह , प्रेस सचिव ललित ठाकुर , घनश्यान , तीर्थ राज , भारत भूषण , संजय कुमार , कुलदीप सहित अन्य लोगो का कहना है पाली में डाक्टर की नियुक्ति तो सरकार ने कर दी लेकिन अस्पताल में डाक्टर न होने से लोगो को परेशानी हो रही है ।
हेम सिंह ने बताया की ऐसे तो भाजपा सरकार बेहतर स्वास्थ्य की बातें करती है लेकिन जिला मंडी के कई अस्पतालों में डाक्टर न होने से लोगो की सेहत के साथ खिलबाड़ कर रही है । हेम सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र पाली में डाक्टर न होने से उपचार करने आ रहे लोगो को सही तरीके से फर्स्ट एड भी नही मिल पा रही है जिस कारण मरीजो को धक्के खाने पर मजबूर होना पड़ रहा है ।
सेवा आश्रय संगठन के पदाधिकारियों ने सरकार और स्वास्थ्य विभाग को चेताते हुए बताया कि पाली स्वास्थ्य केंद्र पाली में डॉक्टर को स्थाई तौर पर नियुक्त नही करती है तो सेवा आश्रय संगठन के कार्यकर्ता पधर मुख्यालयों में जाकर धरना प्रदर्शन करने से गुरेज नही करेंगे । जिसकी जिमेबारी प्रशासन और सरकार की होगी ।  वही स्वास्थ्य केंद्र पाली में स्थापित एक्सरे मशीन और डेंटल चेयर भी ताले में धूल फांक रही है । जिस कारण लाखो रुपये के प्रोजेक्ट बिना यूज के जंग कहा रहे है ।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पाली में डॉक्टर की नियुक्ति न होने से  ग्रांम पंचायत पाली की पूर्व प्रधान रचना देवी ने पाली , पधर और जिला मुख्यालय मंडी में भूख हड़ताल की थी । वही रचना देवी के साथ साथ पाली की अन्य महिलाओ ने धरना प्रदर्शन भी किया था । उसके बाद सरकार ने पाली स्वास्थ्य केंद्र में सप्ताह के तीन दिन डाक्टर की नियुक्ति कर डाली थी । लेकिन प्रधान रचना देवी स्थाई तौर पर डाक्टर की नियुक्ति चाहती थी जिस कारण पाली में डॉक्टर की नियुक्ति न होने से रचना देवी ने प्रधान पद से इस्तीफा दे डाला था ।

“पधर अस्पताल  में डॉक्टर के पद खाली होने के कारण कारण बीच बीच मे पाली सहित अन्य स्वास्थ्य केंद्रों से डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई जाती है । क्योंकि पधर अस्पताल में इमरजेंसी पर ड्यूटी लगाई जाती है । महीने का डॉक्टर ड्यूटी रोस्टर पहले से ही बनाया होता है । उस हिसाब से डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई जाती है । जैसे ही पधर अस्पताल में डॉक्टर की नियुक्ति सरकार कर देगी उसके बाद डॉक्टर स्थाई तौर पर पाली में नियुक्त किया जाएगा । “
                                        –खण्ड चिकित्सक अधिकारी पधर , डॉक्टर शेखर कपूर 

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams