News Flash

अस्पताल व सरकारी आवास के बीच में शव गृह उचित नहीं

एनजीओ ने सीएमओ को सौंपा ज्ञापन

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। बिलासपुर
बिलासपुर जिला अराजपत्रित कर्मचारी संघ क्षेत्रीय अस्पताल व परिवार कल्याण अधिकारी कार्यालय के बीच शव गृह निर्माण मामले पर भड़क गया है। संघ ने इस का कड़े शब्दों में विरोध किया है। संघ ने इस मुददे पर सीएमओ को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर शव गृह को किसी और स्थान पर नहीं बदला गया तो संघ उनके कार्यालय का घेराव करेगा। इसकी जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग की होगी।

बुधवार को इस मुददे पर सीएमओ डॉ. वीके चौधरी को ज्ञापन सौंपते हुए जिला अराजपत्रित कर्मचारी संघ के प्रधान रणवीर ठाकुर, महासचिव राकेश चंदेल सहित अन्य पदाधिकारियों ने कहा कि विभाग द्वारा क्षेत्रीय अस्पताल व परिवार कल्याण के प्रांगण के बीच शव गृह बनाने का निर्माण कार्य शुरू किए जाने वाला है। इस कारण लोगों को आए दिन परेशान होना पड़ेगा।

शव गृह बनने से लोगों को 24 घंटे टेस्ट करवाने में मुश्किल होगी

वहां पर एक तरफ परिवार कल्याण अधिकारी का कार्यालय है, तो दूसरी तरफ डायग्नोलिस्ट सेंटर हैं, जहां पर गर्भवती महिलाएं व अन्य बीमारियों से जूझने वाले मरीज एसएलआर लैब व विभागीय लैब में काफी संख्या में टेस्ट करवाने आते हैं।

यहां पर शव गृह बनने से लोगों को 24 घंटे टेस्ट करवाने में मुश्किल होगी। वहीं इसके पास सरकारी आवास हैं, जहां पर कर्मचारी परिवार सहित रहते हैं। इसके अलावा नर्सिज छात्रावास व क्लासरूम हैं। इससे लोगों को हर दिन परेशान होना पड़ेगा। यहां पर शव गृह बनाना तर्कसंगत नहीं है। उन्होंने सीएमओ ने शीघ्र उचित कार्रवाई करने की मांग की है। अन्यथा संघ इस जनहित के मुददे पर उनके कार्यालय का घेराव करने से पीछे नहीं रहेगा।

यह भी पढ़ें – फरार अपराधी केस – बैरियर सीज, बढ़ाई गई गश्त

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams