News Flash
Maa Baglamukhi

हजारों श्रद्धालुओं ने नवाया शीश, मां की भेंटों पर झूमें श्रद्धालु

हिमाचल दस्तक, मंडी।। गणेश चतुर्थी की संध्या पर तुंगल क्षेत्र के प्रसिद्ध शक्ति पीठ माता बगलामुखी मंदिर सेहली में 62वीं वार्षिक जाग (होम) का आयोजन किया गया। माता बगलामुखी के गुर अमरजीत शर्मा ने माता के गर्भ गृह में पूजा-अर्चना की। उसके बाद मां के द्वारा बताए गए आदेशानुसार पूजा पद्धति को अमलीजामा पहनाया गया। अर्ध रात्रि को माता के गुर अमरजीत शर्मा ने अनेक प्रकार की देववाणी करके भक्तों का मार्गदर्शन किया।

माता के गुर अमरजीत शर्मा ने बताया कि इस बार देवताओं पर डायनियां भारी रही हैं तथा आने वाला समय प्राणी मात्र के लिए अनेक प्रकार की आपदाओं से भरा हुआ रहेगा। सालभर जहां अनेक प्रकार की भयंकर आगजनी घटनाएं, भूस्खलन, भूकंप, राजनैतिक द्वेष, अल्प मौतें और समाज विरोधी गतिविधियां अधिक होंगी, जिससे समाज का वातावरण बिगड़ेगा। माता ने अपने भक्तों की सुरक्षा हेतु अपना कवच आशीर्वाद प्रदान करते हुए आपदा से बचाने का आशीष दिया।

देवताओं और डायनों के बीच हुए सात युद्ध

माता के गुर ने बताया कि डंकन चौदस को देवताओं और डायनों के बीच जो सात युद्ध विभिन्न क्षेत्रों में हुए। उसमें कहीं देवताओं को विजय हासिल हुई और किसी क्षेत्र में डायनें देवताओं पर भारी पड़ी। इस बार सात युद्धों में दो स्थानों पर देवता जीते तो 4 स्थानों पर डायनें जीती तथा एक स्थान पर युद्ध बराबरी पर रहा। माता ने डायनों की छाया पडऩे पर जो वर्तमान समय में बुखार और अन्य बीमारी से ग्रस्त हैं। उन्हे इस बीमारी से बाहर निकालने के उपाय भी बताए।

माता के गुर ने बताया कि माता बगलामुखी कलियुग में साक्षात अपने भक्तों की रक्षा करती हैं। जाग होम में साई संगीत भजन मंडली व कश्मीर सिंह एंड पार्टी ने रातभर मां की महिमा का गुणगान किया व श्रद्धालुओं को झूमने पर विवश कर दिया। इस अवसर पर विशाल अटूट भंडारे का भी आयोजन किया गया। जिसमें सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने मां का प्रसाद ग्रहण किया।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams