News Flash

हिमाचल दस्तक : सुलिंद्र सिंह: संतोषगढ़ : ए जी आप क्यों घबराते हो। भगवान सब ठीक करेगा, बस थोड़ा हौंसला रखिये। आप के सहारे तो मैं अच्छे दिन देख रही हूं, अगर आप ही टूट गए तो मेरा क्या होगा। सब आपके साथ है। क्या हुआ डॉक्टर ने इलाज के लिए थोड़ा खर्च ज्यादा बता दिया। मिल-मिला कर सब ठीक हो जाएगा।

यह शब्द किसी फिल्म के डॉयलाग नहीं है, बलिक हार्ट वाल्ब की बीमारी से जूझ रहे अति गरीब परिवार से संबंध रखने वाले पति व दु:ख की घड़ी में चट्टान की तरह साथ खड़ी पत्नी की रीइल लाईफ के बीच के हैं। इन शब्दों में बस फिल्मी दुनिया से कुछ असल घटित हुए दुखद पल जरूर मेल खा रहे थे। बता दें कि संतोषगढ़ के वार्ड पांच निवासी 40 वर्षीय महिंद्र को कुछ रोज पहले हार्ट अटैक हुआ था। थोड़े समय में उसे क्षेत्रीय अस्पताल ऊना पहुंचाया गया। यहां से उसे उच्च उपचार के लिए पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया।
पीजीआई में चिकित्सीय जांच में पता चला कि महिंद्र को हार्ट वाल्ब की प्रॉब्लम है, जिसके लिए तकरीबन डेढ़ से दो लाख रुपये खर्च भी बताया गया। फिर क्या था इस बारे में भनक लगते ही गरीबी रेखा से जूझ रहे महिंद्र का हौंसला टूट गया और पत्नी से इलाज के खर्च को लेकर चिंतित होने लगा। कुछ रोज पहले महिंद्र पीजीआई से वापस छुट्टी लेकर घर आ गया। अब डॉक्टर्स ने उसे दो हफ्ते बाद ऑपरेशन के लिए बुलाया है। घर पहुंचते ही महिंद्र जोर-जोर से रोने लगा तथा पति ओर पत्नी के बीच उपरोक्त शुरुआती लाइन में दिए शब्दो का संवाद शुरू हो गया। हालातों के अनुसार महिंद्र का रोना ओर हौंसले का टूटना एक पल के लिए जायज था, क्योंकि गरीबी चीज ही कुछ ऐसी है, जिसमे गरीब बीमारी लगने पर सीधे मौत को भगवान से मांगता है।
अब असल बात यह कि महिंद्र के परिवार में मात्र एक कमरे में दो छोटे बच्चे जोकि नर्सरी ओर दूसरी कक्षा में पढ़तें हैं, के साथ रहता है। जिस कमरे में इस परिवार का सोना और उठना होता है, उसी में रसोई खाना पकाना ओर खाना। जो भी हो डॉक्टर्स द्वारा बताया खर्च कतई ज्यादा नहीं है। बस जरूरत है दोनों के बीच संवाद में आये दो शब्दों की मिल जुलकर। ऐसे में इस परिवार को दरकार है आपकी आर्थिकी मदद की, जिससे महिंद्र का दिल धड़कता रहेगा। जिससे यहां इस परिवार का कमाने वाला दोबारा जीवन जी सकेगा वहीं दो बच्चों संग परिवार का भरण पोषण भी कर सकेगा।

10 हजार रुपये की मिली मदद

श्री गुरु रविदास महासभा इकाई ऊना वीरवार को दिल की बीमारी से पीडत मोहिंद्र सिंह के घर कुशलक्षेम जानने पहुंचे। सभा के प्रधान नरेश कुमार अधिवक्ता, राज्य मुख्य सलाहकार प्रीतम चंद संधू, उपप्रधान नवीन महे, मीडिया सलाहकार सुलिंद्र सिंह चोपड़ा, समाजसेवी बलराम महेश ने महिंद्र सिंह को श्री गुरु रविदास ग्लोबल ऑर्गनाइजेशन फॉर इकल राइट कनेडा द्वारा भेजी गई 10 हजार की राशि भेंट की।
सभा के मोंटी सिंह, रमेश कलेर व सोहन लाल सोंधी ने कहा कि पीडि़त महिंद्र सिंह को सभा द्वारा और भी आर्थिक सहायता दी जाएगी। श्री गुरु रविदास महासभा के प्रधान नरेश कुमार ने कहा कि जल्द ही मोहिंद्र को सभा की तरफ  से हर सम्भव प्रयास किए जाएंग, इसके इलाज के लिए सरकार से भी बातचीत करेंगे।
–सुलिंद्र सिंह, संतोषगढ़। 

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams