News Flash
manali nup president resign

भाजपा की तैयारियों पर फेरा पानी, अब मंगलवार को होगा सरदारी का फैसला

हिमाचल दस्तक। मनाली
नगर परिषद मनाली की सरदारी पाने को लेकर आमने-सामने हुई कांग्रेस-भाजपा में खिंचतान का दौर जारी है। भाजपा ने जहां शुक्रवार को परिषद की सरदारी पाने की पूरी तैयारी कर ली थी, वहीं भाजपा की तैयारियों पर कांग्रेस पार्षदों ने उस समय पानी फेर दिया जब नगर परिषद मनाली की अध्यक्ष व उपाध्यक्ष ने एक साथ एसडीएम को अपना त्याग पत्र सौंपा। ऐसे में शुक्रवार को भाजपा की परिषद की अध्यक्षी पाने की तैयारी सिरे नहीं चढ़ सकी। ऐसे में अविश्वास प्रस्ताव पर होने वाली चर्चा का कोई उद्देश्य ही नहीं रहा। कोरम पूरा न हो पाने के कारण अब प्रशासन ने बैठक 15 जनवरी को बुलाई है।

मनाली नगर परिषद की सरदारी पाने को लेकर मनु की नगरी में गरमाए राजनीतिक माहौल ने जहां शहर में चर्चाओं का मौहल गरमा डाला है, वहीं भाजपा के पार्षदों ने नगर परिषद की सरदारी पाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक डाली है। यहां बता दें कि नगर परिषद मनाली के सात पार्षदों में चार पार्षदों ने एसडीएम मनाली के समक्ष कुछ दिन पहले अविश्वास प्रस्ताव रखा था। एसडीएम कार्यालय मनाली की ओर से अध्यक्ष और उपाध्यक्ष को अविश्वास प्रस्ताव की जानकारी देते हुए 15 दिन का नोटिस जारी किया गया था।

ऐसे में शुक्रवार को अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद का फैसला भी होना था, लेकिन कोरम पूरा न हो पाने व अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के एक साथ रिजाइन देने से भाजपा का दाव उल्टा पड़ गया और फैसला आगे के लिए टल गया। प्रदेश के दोनों बड़े राजनीतिक दलों भाजपा और कांग्रेस में इन दोनों पदों पर अपने चहेतों को बैठाने की कशमकश जारी है। गौर रहे कि इससे पूर्व नगर परिषद मनाली में कांग्रेस समर्थित पांच पार्षद थे और अध्यक्ष तथा उपाध्यक्ष पद पर भी कांग्रेस के ही लोग आसीन हुए थे।

आज से लगभग अढ़ाई वर्ष पूर्व जब सात में पांच पार्षद कांग्रेस समर्थित मनाली में जीत कर आए थे।

उस समय पांच में से दो पार्षदों को अढ़ाई-अढ़ाई साल के कार्यकाल के लिए अध्यक्ष पद पर बने रहने पर सहमति बनी थी, जिसमें पहले के अढ़ाई साल शबनम तनवर को अध्यक्ष बनाया जाना था और उसके बाद अढ़ाई साल के लिए नीना ठाकुर को अध्यक्ष बनाया जाना था। शबनम तनवर के अढ़ाई साल अगस्त महीने में पूरे हो गए थे, लेकिन शबनम ने अढ़ाई साल पूरे होने के बाद भी वह अध्यक्ष पद बनी रही, जिसके चलते नीना ठाकुर ने अपनी एक सहयोगी अनिता सूद के साथ मिलकर भाजपा का दामन थाम लिया है।

अब मनाली नगर परिषद में भाजपा समर्थित चार पार्षद हो गए हैं। भाजपा में शामिल हुई नीना ठाकुर अध्यक्ष और अनिता सूद को उपाध्यक्ष बनाया जाना है। मौजूदा हालात यह है कि भाजपा के पास चमन कपूर, मनोज कुमार, नीना ठाकुर, अनिता सूद सहित चार पार्षद है और कांग्रेस के पास शबनम तनवर, सुनीता, जोगिंद्र पाल सहित तीन पार्षद हैं। दोनों दलों में अभी भी अध्यक्ष पद को लेकर कशमकश जारी है।

यदि एक भी पार्षद इधर से उधर होता है तो भाजपा के गणित को कांग्रेस खराब कर सकती है। कांग्रेस अभी भी नगर परिषद की सरदारी को जोड़-तोड़ की राजनीति में जुटी हुई है। उधर, एसडीएम मनाली रमन घरसंगी ने कहा कि शुक्रवार को कोरम पूरा न हो पाने के कारण बैठक पूरी नहीं हो सकी। आगामी बैठक मंगलवार को रखी गई है। नगर परिषद अध्यक्ष व उपाध्यक्ष ने अपने पद से त्याग पत्र दे दिया है।

मैंने अपने पद से त्याद पत्र दिया है। मंगलवार को होने वाली बैठक में एक बार फिर नगर परिषद की सरदारी पाने के लिए हम दावेदारी जताएंगे। -शबनम तनवर, पूर्व अध्यक्ष नगर परिषद मनाली

यह भी पढ़ें – सियासी अखाड़ा बना मैहरे का बस अड्डा

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams