News Flash
legendary leaders

न वीरभद्र सिंह पहुंचे, न ही मुकेश अग्निहोत्री और आशा

वरिष्ठ नेताओं की गैर मौजूदगी में कांग्रेस ने बजाया लोकसभा चुनाव का बिगुल

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
प्रदेश कांग्रेस कमेटी की आमसभा में वीरभद्र सिंह सहित कई नेता गैरहाजिर रहे। प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल के साथ यह कांग्रेस की पहली आमसभा थी, लेकिन वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सहित नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्रिहोत्री, पंजाब कांग्रेस प्रभारी एवं विधायक आशा कुमारी, विधायक विक्रमादित्य सिंह इस सभा से नदारद रहे। हालांकि पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर सहित कई हारे हुए नेताओं ने प्रभारी के समक्ष उपस्थिति दर्ज की। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने वरिष्ठ नेताओं की गैर मौजूदगी में बिगुल बजा
दिया है।

सोमवार को नई प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल की मौजूदगी में पार्टी मुख्यालय राजीव भवन में आमसभा आयोजित की गई। प्रदेश प्रभारी बनने के बाद पहली बार प्रदेश दौरे पर आई रजनी पाटिल ने पार्टी को प्रदेश में और मजबूत करने के लिए टिप्स दिए और सभी को एकजुट होकर लोकसभा चुनावों के लिए जुटने का आह्वान किया। प्रदेश प्रभारी ने सभी कांग्रेसियों को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का चुनावी संदेश भी दिया। उन्होंने कहा कि बड़े-बड़े चुनावी वादों के साथ सत्ता में आई भाजपा ने जनता को ठगा है।

केंद्र सरकार जनता का विश्वास खो चुकी है

पीएम नरेंद्र मोदी ने एक भी चुनावी वादा पूरा नहीं किया। पाटिल ने आरोप लगाया कि न तो 15-15 लाख खातों में आए, न ही दो करोड़ रोजगार सालाना मिले और न ही भ्रष्टाचार का खात्मा हुआ। रजनी पाटिल ने आरोप लगाया कि नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और विजय माल्या केंद्र सरकार के संरक्षण में करोड़ों रुपये लेकर विदेश फरार हो गए।

केंद्र सरकार जनता का विश्वास खो चुकी है। देश में बदलाव की बयार बह रही है। प्रदेश प्रभारी ने कहा कि 2019 में लोकसभा चुनाव में अधिक से अधिक सीटें जीतकर कांग्रेस सरकार बनानी है और राहुल गांधी को पीएम की कुर्सी पर बिठाना है। इसलिए सभी कांग्रेस नेता व कार्यकर्ता एकजुट होकर चुनावों की तैयारी में डट जाएं।

पेयजल संकट व कानून-व्यवस्था पर निंदा प्रस्ताव

प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने बैठक के पहले दिन पेयजल संकट और कानून-व्यवस्था को लेकर निंदा प्रस्ताव पारित किया। प्रदेश कांग्रेस का आरोप है कि राजधानी शिमला में घोर पेयजल संकट के कारण पहली बार बड़े स्तर पर अव्यवस्था उत्पन्न हुई। प्रदेश की जयराम सरकार के जल संकट का समाधान करने में विफल रहने पर कोर्ट को हस्तक्षेप करना पड़ा।

कांग्रेस का आरोप है कि प्रदेश में भाजपा सरकार के सत्ता संभालने के बाद से अराजकता का माहौल है। असामाजिक तत्वों और अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। सरकार के पांच महीने के कार्यकाल में लगभग 70 हत्याएं और 40 के करीब दुष्कर्म व छेड़छाड़ की घटनाएं हो चुकी हैं।

सभी 7500 बूथों पर बनेगी 11 सदस्यीय टीम

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने कहा कि प्रदेश के सभी 75 सौ बूथों पर 11-11 सदस्यीय टीमें जल्दी ही बनाई जाएंगी। पूरे प्रदेश की इन टीमों का डाटा प्रदेश कांग्रेस के पास होगा। राहुल गांधी की ओर से लांच किए गए शक्ति प्रोजेक्ट में पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का पंजीकरण तेज किया जाएगा। सुक्खू ने कहा कि कांग्रेस मजबूत है और चारों लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज की जाएगी।

नई प्रदेश प्रभारी के मार्गदर्शन में सभी कांग्रेस नेता एकजुट होकर कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि बीते लोकसभा चुनाव में जनता ने चारों सीटें भाजपा की झोली में डाल दी थीं, लेकिन चुनाव के समय पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी द्वारा प्रदेश की जनता से किया एक भी वादा पूरा नहीं हुआ। जनता अगले साल लोकसभा चुनाव में भाजपा को सबक सिखाने के लिए तैयार बैठी है।

यह भी पढ़ें – कांग्रेस ने शुरू किए थे नशे के कोर्स – सत्ती

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams