News Flash
married woman suicide

पालमपुर के बोदल गांव में विवाहिता ने की आत्महत्या

  • पति, सास-ससुर और जेठ पुलिस हिरासत में
  • एक साल के मासूम को बिलखता छोड़ गई मां

हिमाचल दस्तक। पालमपुर
उपमंडल पालमपुर के पंचरुखी थाना में ससुरालियों की प्रताडऩा से तंग होकर एक महिला ने जान दे दी। महिला की मौत के बाद क्षेत्र में तनाव के माहौल को देखते हुए बोदल गांव में भारी पुलिस बल को तैनात किया गया था। पुलिस ने इस मामले में मृतक महिला के पिता की शिकायत पर सास-ससुर, पति और जेठ को गिरफ्तार किया है। जानकारी के मुताबिक ब्याड़ा गांव के काका राम ने पंचरुखी पुलिस थाना में शिकायत दर्ज करवाई कि उसकी 22 वर्षीय बेटी किरण की मौत हो गई है।

उसने अपनी बेटी की मौत के लिए पति रमेश, जेठ राजेश और ससुर प्रीतम व सास रक्षा देवी को जिम्मेदार ठहराते हुए उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई है। काका राम का कहना था कि उसकी बेटी ने उन्हें फोन करके बताया था कि उसके ससुराल वाले उसके साथ मारपीट कर रहे हैं। जिसके बाद वह अपनी पत्नी को लेकर सोमवार को उनके घर बोदल में आया था। जहां पर उनकी बेटी के जेठ राजेश ने उन्हें धमकाया और वहां से जाने के लिए कहा। उसके बाद उनकी बेटी के साथ मारपीट की गई।

काका राम का कहना था कि मंगलवार को उन्हें यह सूचना मिली कि उनकी बेटी ने कोई चीज खाई है और उसे विवेकानंद मेडिकल अस्पताल में ले जाया गया है। जहां पर उसकी मंगलवार को ही इलाज के दौरान मौत हो गई। काका राम ने आरोप लगाया कि उसकी बेटी की शादी को अभी दो साल भी नहीं हुए है। शादी के बाद से ही उसके ससुराल वाले उसे तंग कर रहे थे।

आंगन में संस्कार पर अड़े मायके वाले, पुलिस ने शांत करवाया

अपनी बेटी की मौत के बाद मायका पक्ष के लोग मृतका का पोस्टमार्टम करवाने के बाद उसके अंतिम संस्कार को ससुराल के आंगन में करवाए जाने को लेकर अड़ गए। हालांकि पंचरुखी पुलिस थाना के प्रभारी सुभाष शास्त्री ने मायका पक्ष से जुड़े लोगों को समझाते हुए शांत करवाया। मगर समाचार लिखे जाने तक मायका पक्ष इस बात पर अड़ा हुआ था कि दाह संस्कार उसके ससुराल में ही
किया जाएगा।

पुलिस को चौकसी बरतने के दिए निर्देश : डीएसपी

डीएसपी विकास धीमान ने बताया कि ब्याड़ा निवासी काका राम की शिकायत के आधार पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज करते हुए पति,सास-ससुर और जेठ को गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने बताया कि मृतका का पोस्टमार्टम करवाने के बाद लाश को परिजनों के हवाले कर दिया गया है। धीमान ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए गांव में व्यापक पुलिस बल को तैनात करते हुए कर्मियों को चौकसी बरतने के निर्देश दिए गए हैं।

बेकसूर मासूम को सजा अपनों को ढूंढ रहीं आंखें

बेटे के सिर से मां का साया उठा

शारदा आनंद गौतम। पालमपुर
उपमंडल पालमपुर के बोदल गांव के किरण और रमेश ने 23 अगस्त को जिस मासूम का पहला जन्मदिन मनाया था। आज उसके सिर से मां का साया उठ गया है तो पिता भी उससे दूर चला गया है। अब दादा-दादी भी नहीं जिनकी गोद में वह खेल सके। नाना-नानी की माली हालत है तो दूसरी तरफ दादा-दादी और पिता व ताया पुलिस की हिरासत में है। ग्रामीणों ने बताया कि ब्याड़ा गांव के काका राम की तीन बेटियां और एक बेटा है। बड़ी बेटी किरण की शादी उसने दिसबंर, 2016 में की थी।

बेहद साधारण परिवार के काका राम ने जैसे-तैसे अपने परिवार में बच्चों को पाला था। दिसंबर, 2016 में उसने बेटी किरण की शादी की थी और अगस्त 2017 में उनके घर में बच्चे की किलकारियां गूंजी थी। रमेश उर्फ सोनू मिस्त्री का काम करता है। दिहाड़ी लगाकर अपने परिवार को चला रहा था। ऐसे में पारिवारिक कलह के चलते घर पर विवाद हुआ था।

किरण के पिता अपने दामाद को समझाने के लिए आए थे तो उनके साथ भी कहासुनी हो गई। ऐसे में किरण यह देख नहीं सकी कि उसके कारण उसके पिता को इतना कुछ सहना पड़ा और उसके बाद उसने यह घातक कदम उठा लिया। मगर उसके इस कदम से उसके मासूम को सजा मिली है।

यह भी पढ़ें – 30 साल बाद पकड़ा उद्घोषित अपराधी

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams