martyr body

शहीद इंद्र सिंह की शहादत की खबर सुनते ही माहौल गमगीन

देवेंद्र गुप्ता । मंडी
मणिपुर में सोमवार को नक्सली हमले में शहीद हुए पंडोह के इंद्र सिंह की शहादत की खबर सुनते ही क्षेत्र में माहौल गमगीन है। शहीद का पार्थिव शरीर बुधवार को पंडोह में लाया जाएगा। इंद्र सिंह के फौजी मामा मान सिंह ने बताया कि मंगलवार को इंफाल से शव को दिल्ली और दिल्ली से पठानकोट लाया जाएगा। बुधवार सुबह पांच बजे पठानकोट से गाड़ी से शव को पंडोह लाया जाएगा। इसके बाद तवारफी में अंमित संस्कार किया जाएगा।

मंगलवार को प्रशासन की ओर से एसडीएम मंडी पूजा चौहान मौके पर पहुंची। उन्होंने शहीद के परिवार को सांत्वना दी। इसके बाद तवारफी शमशानघाट का दौरा किया। शमशानघाट की तरफ जाने वाली सड़क को बनाया गया। तवारफी में ही शहीद इंद्र सिंह का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

बचपन से ही देशभक्ति का था जज्बा

इंद्र सिंह को बचपन से देश की सेवा करने का शौक था। 20 साल की उम्र में ही असम राइफल में भर्ती हो गया। वर्ष 2009 में शादी हुई। इंद्र का बेटा उदय सिंह सात साल का है। वहीं, पत्नी इंदिरा को पति की शहादत पर मान है। शहीद इंद्र सिंह के बेटे उदय सिंह ने कहा के वह जानता है उसके पिता इस दुनिया में नहीं हैं। उन्हें दुश्मनों ने गोली मारी है।

मां ने कहा, बेटे की शहादत पर गर्व

शहीद इंद्र सिंह की मां ने कहा कि बेटे की शहादत पर गर्व है। बेटे ने असली फर्ज निभाया है, मगर बेटे की याद आते ही उसकी आंखों में आंसू बहने लग जाते हैं। शहीद इंद्र सिंह जून महीने में छुट्टी काटने घर आया था और जुलाई महीने में वापस डयूटी पर लौटा था। शहादत से एक दिन पहले की रात को ही शहीद ने अपने परिवार वालों से फोन पर बात की थी।

आज बंद रहेगा बाजार

शहीद इंद्र सिंह के गम में आज बुधवार को पंडोह का बाजार बंद रहेगा। व्यपार मंडल पंडोह के प्रधान कुलदीप आनंद ने बताया कि शहीद की शहादत को नमन करने पूरा व्यापार मंडल शमशानघाट जाएगा।

राज्यपाल और CMम ने जताया शोक

शिमला। राज्यपाल आचार्य देवव्रत और मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने मणिपुर में हुए ब्लास्ट में इंद्र सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है। इंद्र सिंह प्रदेश के मंडी जिले के पंडोह क्षेत्र के रहने वाले थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के वीर जवान हमेशा देश की सीमाओं की रक्षाओं के लिए तैनात रहते हैं और कानून व व्यवस्था बनाए रखने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राइफल मैन इंद्र सिंह द्वारा दी गई शाहदत को प्रदेश व देश हमेशा याद रखेगा। उन्होंने शोक संतप्त परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना की है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams