News Flash
state incharge rajni patil

कहा, चेहरे तय नहीं, पर पार्टी हाईकमान जिसे चाहेगी उम्मीदवार बनाएगी

हिमाचल दस्तक। कांगड़ा
प्रदेश के नेताओं में आपस में जो गलतफहमियां व्याप्त हैं, उन्हें समय रहते दूर कर लिया जाएगा और आने वाले लोकसभा चुनावों में 4-0 से कांग्रेस पार्टी जीत हासिल करेगी। यह बात मटौर के समीप आयोजित हुए कार्यकर्ता सम्मलेन के बाद पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में प्रदेश प्रभारी रजनी पाटिल ने कही।

प्रदेश प्रभारी ने कहा कि समय रहते जल्द ही प्रदेश की चारों सीटों के टिकट आवंटन कर दिए जाएंगे, ताकि उम्मीदवार और कार्यकर्ता अपना काम शुरू कर सकें। उन्होंने कहा कि अभी तक कोई भी चेहरा स्पष्ट नहीं है। पार्टी हाईकमान जिसके नाम पर मुहर लगाएगी, वही चुनावी रण में उतरेगा। उन्होंने कहा कि आज जो फीड बैक कार्यकर्ताओं से लिया है उसकी पूरी रिपोर्ट पार्टी हाईकमान को सौंपी जाएगी। पाटिल ने कहा कि पार्टी के दोनों धड़ों के बीच जो भी मन मुटाव हैं, उसे बातचीत के जरिए जल्दी ही सुलझा लिया जाएगा।

कहा कि सभी मिलकर लड़ेंगे तभी जीत निश्चित हो पाएगी

उन्होंने कहा कि महीने के 15 दिन वह हिमाचल में रहकर पार्टी की मजबूती के लिए काम करेंगी। पत्रकारों के सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पार्टी का अध्यक्ष मनोनयन के माध्यम से नहीं अपितु चुनाव प्रक्रिया से चुना जाना चाहिए, जिसमें काबलियत होगी वही उक्त पद को प्राप्त करेगा। उन्होंने कहा कि सभी मिलकर लड़ेंगे तभी जीत निश्चित हो पाएगी। पाटिल ने कहा कि आने वाले दिनों में ब्लॉक स्तर पर जाकर कार्यकर्ताओं से मिला जाएगा और उनसे फीडबैक लेकर उन्हें प्रेरित किया जाएगा।

कांग्रेस प्रदेश प्रभारी ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि धर्म निरपेक्ष देश के नाम पर जाना जाने वाला देश सांप्रदायिकता के रंग में रंग गया है। इस अवसर पर प्रदेश के सह प्रभारी गुरकीरत सिंह, प्रदेशाध्यक्ष सुखविंद्र सुक्खू, विधायक पवन काजल, पूर्व मंत्री जीएस बाली, सुधीर शर्मा, मुकेश अग्निहोत्री, पूर्व विधायक यादवेंद्र गोमा, सुरेंद्र काकू व संजय रत्न विशेष रूप से उपस्थित थे।

सुधीर-बाली के सर्मथकों ने की नारेबाजी

चंदन महाशा। कांगड़ा
प्रदेश कांग्रेस प्रभारी के बैठक स्थल पर पहुंचने से पहले ही कांगड़ा के दो दिग्गज नेताओं पूर्व मंत्री जीएस बाली और सुधीर शर्मा के समर्थकों में नारेबाजी को लेकर खूब जोर अजमाइश हुई। हालांकि बाली और सुधीर दोनों ही अपनी दावेदारी प्रत्यक्ष रूप से नहीं जता रहे हैं, लेकिन विधानसभा चुनावों में हार के बाद दोनों ही नेता लोकसभा की और रुख करना चाहते हैं। इसके चलते दोनों ही नेताओं ने सोमवार को प्रदेश प्रभारी के कार्यक्रम में शक्ति प्रदर्शन करने से कोई कसर नहीं रखी।

मेन बैनर में ही नजर आए वीरभद्र सिंह

सम्मेलन स्थल पर सोनिया गांधी, राहुल गांधी, रजनी पाटिल के साथ पूर्व मंत्री जीएस बाली, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सुखविंद्र सिंह सुक्खू और पूर्व केंद्रीय आनंद शर्मा के होर्डिंग्स तो नजर आए, लेकिन पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह मात्र मंच के पीछे लगे मेन बैनर में ही नजर आए।

यह भी पढ़ें – कांग्रेस सम्मेलन में सिर चढ़कर बोली गुटबाजी

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams