mukesh agnihotri

मुकेश ने बजट को खारिज किया

कहा- बेरोजगारी भत्ता बंद कर दुकान खुलवा रहे बेरोजगारों से

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
विधानसभा में सोमवार को बजट पर चर्चा का शुरुआत कांग्रेस विधायक दल नेता मुकेश अग्रिहोत्री ने कर दी। उन्होंने न केवल बजट का पोस्टमार्टम अपने संबोधन में किया, बल्कि बजट भाषण की शायरी पर कई तंज भी कसे। मुकेश ने कहा कि इस बजट की कोई दिशा नहीं। आधी योजनाएं पुरानी हैं और जो नई हैं, उनमें बजट प्रावधान नाकाफी है। ऐसा प्रतीत होता है कि नए मुख्यमंत्री को अफसरों ने ही घुमा दिया। बीजेपी का बजट महज लोलीपॉप है।

मुख्यमंत्री ने अपने पौने 3 घंटे के भाषण में कुछ नया नहीं कहा। ड्रग माफिया और नशे पर भी बीजेपी ने चुनावों में खूब हल्ला बोला, लेकिन अब सरकार ड्रग माफिया पर क्या कर रही है? कानून व्यवस्था बेहाल है। पिछले दो माह में 13 हत्याएं और 50 रेप हुए हंै। सरकार शराब ठेकों की कमाई से आगे बढऩे की सोच रही है।

मुकेश ने तंज कसा कहा यहां सिर्फ हास्य कलाकार बदले हैं

अफसरशाही ने बजट में मुख्यमंत्री से ये भी बुलवा दिया कि उनकी सरकार कर्जे से चलेगी। लेकिन, मुख्यमंत्री ने कर्जे का ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ा जो कि सरासर गलत है। 2012 में धूमल सरकार जो घोषणाएं करके छोड़ दी, उन्हें पूरा करने को वीरभद्र सरकार ने कर्ज लिया। अब तक दो माह में सरकार 2200 करोड़ का कर्ज ले चुकी है। इसी गति से चलते रहे तो आपकी सरकार 500 फीसदी ज्यादा कर्ज लेगी।

मुकेश ने तंज कसा कि बजट तैयार करने वाले प्रोडयूसर और डायरेक्टर वहीं हैं जो हमारे समय में थे। यहां सिर्फ हास्य कलाकार बदले हैं। बीजेपी सरकार दो माह में सिर्फ तबादलों पर जोर देती रही। बजट कैसा हो, किसके लिए लाभदायक हो, ये सोचा ही नहीं। बेरोजगारी पर सरकार को घेरते हुए अग्निहोत्री ने कहा कि सरकार रोजगार देने के बड़े-बड़े वादे किए थे, लेकिन बजट में युवाओं के लिए रोजगार सृजन के लिए कोई योजना नहीं है।

ट्रांसफर एक्ट पर पहले शिक्षकों से बात करे सरकार

मुकेश अग्रिहोत्री ने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार हिमाचल को बेचना चाहती है। मुख्यमंत्री ने उद्योगों के लिए सरकारी भूमि लीज पर देने के लिए सीएस की अध्यक्षता में कमेटी बनाने की घोषणा की। सरकार लीज नियमों और धारा-118 के साथ छेडख़ानी के लिए रास्ता तलाश रही है, जो होने नहीं दिया जाएगा। न ही कांग्रेस पूर्व सरकार के खोले गए संस्थानों को बंद होने देगी। शिक्षा मंत्री तबादला नीति बनाने जा रहे हैं, लेकिन इस पर अध्यापकों की राय के बाद ही फैसला करें।

CM साहब, पांव में छाले तो किसी और के निकले थे

मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि बजट पेश करते दिन मुख्यमंत्री ने अपने पांव में छाले निकलने की बात कही थी, मगर जयराम ठाकुर जानते हैं कि किसके पांव में छाले निकले थे चुनाव के वक्त। उन्होंने कहा कि CM बार-बार दिल्ली जाते रहते हैं और बेलआवट पैकेज लाने की बात करते रहे। लेकिन मिला कुछ नहीं। मुख्यमंत्री ने बजट में बेरोजगारों को दुकान खुलवाने की बात कही, जो औचित्यहीन है। मुकेश अग्रिहोत्री ने आरोप लगाया कि सरकार ने बोरोजगारी भत्ता बंद कर दिया।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams