News Flash
urmil thakur

भाजपा-कांग्रेस दोनों की नजर उर्मिल की सियासी चाल पर

सुरेंद्र कटोच। हमीरपुर
हमीरपुर से दो मर्तबा भाजपा की विधायक रही उर्मिल ठाकुर की लोकसभा चुनाव में चुप्पी रहस्यमय है। कारण कुछ भी रहे हों, लेकिन उर्मिल का चुनाव में साइलेंस मोड में होना भाजपा के लिए खतरे की घंटी तो नहीं? 2014 में सुजानपुर के उपचुनाव में टिकट नहीं मिलने से खफा उर्मिल ठाकुर ने कांग्रेस के साथ मंच साझा किया था। इसी मंच से उर्मिल के कांग्रेस में शामिल होने की घोषणा भी हुई थी। इसके बाद प्रदेश हाईकमान ने उर्मिल ठाकुर को बाहर का रास्ता दिखा दिया था। लेकिन उर्मिल ने कांग्रेस की सदस्यता नहीं ली थी।

इसके बाद पिछले लोकसभा चुनाव में भी उर्मिल ने पालमपुर में भाजपा प्रत्याशी इंदू गोस्वामी के लिए प्रचार किया था। लेकिन लोकसभा चुनाव में उर्मिल का साइलेंस मोड में होना कई सवालों को जन्म दे रहा है। हालांकि उर्मिल ठाकुर ने अभी पत्ते नहीं खोले हैं, लेकिन उर्मिल की खामोशी को लेकर चर्चाओं का बाजार गरम है।

उर्मिल अभी तक न तो भाजपा में खुलकर सामने आई है और न ही कांग्रेस की तरफ कोई संकेत दिए हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान उर्मिल के फैसले पर भाजपा और कांग्रेस दोनों की नजर है। कांग्रेस जिला अध्यक्ष नरेश ठाकुर का कहना है कि पार्टी के औहदेदार शीघ्र ही उर्मिल से मिलने वाले हैं। दूसरी तरफ पता चला है कि उर्मिल को भाजपा में पुन: शामिल करने की कवायद तो चल रही है, लेकिन मामला अभी विचाराधीन है।

घर वापसी में लगा अड़ंगा

सूत्रों की मानें तो 2017 के विधानसभा चुनाव से करीब छह माह पहले भाजपा हाईकमान ने शिमला में एक बड़े नेता से मिलने का फरमान दिया था। उस नेता से मिलने के बाद ही उर्मिल ने पालमपुर में जाकर पार्टी का प्रचार किया। हैरानी यह रही कि इस दौरान प्रदेश के ही एक बड़े नेता ने उस समय उर्मिल की पार्टी में वापसी पर रोक लगा दी थी। माना जा रहा है कि उस समय यदि उर्मिल ठाकुर की भाजपा में एंट्री होती तो उर्मिल टिकट की प्रबल दावेदार होने के साथ टिकट झटकने की स्थिति में भी थीं।

क्यों जरूरी समझी जा रही महिला नेता की वापसी

उर्मिल ठाकुर वर्ष 1996 में वर्तमान सुजानपुर के पटलांदर से बीडीसी का चुनाव जीतीं, इसके बाद वे जिला परिषद का चुनाव भी जीतीं। वर्ष 1998 में उन्हें जिला परिषद रहते हमीरपुर से भाजपा का टिकट दिया गया और वे चुनाव भी जीतीं। यही वजह है कि हमीरपुर क्षेत्र के साथ सुजानपुर में भी उर्मिल की खास तौर पर महिला मतों पर पकड़ है।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams