News Flash
nationwide strike

नई सरकार से मिड-डे मील कर्मियों को 14 हजार रुपये मानदेय की उम्मीद

  • हड़ताल में शामिल होंगे विभिन्न संगठन
  • तैयारियों को लेकर एटक के बैनर तले बैठक आयोजित

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। बिलासपुर
आगामी 17 जनवरी को पूरे देश में केंद्रीय ट्रेड यूनियन के राष्ट्रव्यापी धरना-प्रदर्शन के आह्वान पर एटक भी इसके अपनी अहम भागीदारी निभाएगी। बिलासपुर में एटक के बैनर तले विभिन्न संगठन में भारी संख्या में भाग लेंगे। यहां पर मुद्दे पर व धरना प्रदर्शन की तैयारियों पर एटक जिला महासचिव व सीपीआई के जिला सचिव अधिवक्ता परवेश चंदेल की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई।

जिसमें विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। तथा नारेबाजी भी की। बैठक को संबोधित करते हुए जिला महासचिव प्रदेश एटक के उपाधक्ष कम्युनिष्ट पार्टी के जिला सचिव कामरेड लेखराम धीमान, एटक के राज्य परिषद सदस्य कामरेड राजकुमार ठाकुर ने भी संबोधित किया। केंद्र की मोदी सरकार श्रम कानूनों को संशोधन के नाम पर खत्म करने की साजिश कर रही है। जिसे सहन नहीं किया जाएगा।

घुमारवीं से भी सैकड़ों मिड-डे मील वर्करों ने 17 जनवरी केा अपनी हिस्सेदारी सुनिश्चित करने का निर्णय लिया

आशा व मिड-डे मील कर्मी इस महंगाई के युग में 1800 रुपये न्यूनतम वेतन मिल रहा है। इससे गुजारा करना बेहद मुश्किल है। 17 जनवरी को पूरे देश में केंद्रीय टै्रड यूनियन के राष्ट्रव्यापी धरना प्रदर्शन में इन्हीें मुद्दों को उठाया जाएगा। घुमारवीं से भी सैकड़ों मिड-डे मील वर्करों ने 17 जनवरी केा अपनी हिस्सेदारी सुनिश्चित करने का निर्णय लिया है। उधर, इसी सिलसिले में बिलासपुर के बध्यात में जंगल-सुगल व चांदपुर व शहरी केंद्र की इकाइयों की बैठक आयोजित की गई।

जिसकी अध्यक्षता मिड-डे मील वर्कर यूनियन की जिला प्रधान कमलेश ठाकुर ने की। बैठक में एटक के जिला महासचिव प्रवेश चंदेल ने व एटक के राज्य परिषद सदस्य कामरेड राजकुमार ठाकुर ने भी संबोधित किया। इसके अलावा आस-पड़ोस के जिलों में भी 17 जनवरी की हड़ताल को सफल बनाने के लिए बैठक आयोजित की गई इसी सिलसिले में मंडी के बलद्वाडा़ में उरोक्त नेताओं ने एक बैठक आयोजित की।

केंद्र व राज्य सरकार से आंगनवाड़ी, आशा व मिड-डे मील कर्मियो को सरकारी कर्मचारी घोषित करने व 18000 रुपये वेतन प्रदान करें। प्रदेश की नई सरकार का स्वागत करते हुए कहा कि नई प्रदेश सरकार केरल की तर्ज पर स्कीम वर्करों को 8000 व 14000 रुपये तक मानदेय देगी और पिछली सरकार में किए गए समझौते भी लागू करेगी। अन्यथा एटक संघर्ष का रास्ता अख्तियार करेगी।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams