News Flash
cm jai ram thakur

ये दुखद है कि शराब माफिया ने पूरे विपक्ष को अपने पक्ष में खड़ा कर दिया

शराब तस्कर को छुड़ाने के लिए पुलिस पर हमला किया विधायक के स्टाफ ने

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला

कांग्रेस विधायकों के हंगामे को नजरअंदाज करते हुए सीएम जयराम ठाकुर ने सदन में कहा कि न तो शराब माफिया को छोड़ेंगे, न उसके हमदर्दों को। हम माफिया पर कार्रवाई करने को कटिबध हैं और ये कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि ये दुखद है कि शराब माफिया इतना मजबूत है कि उसने पूरे विपक्ष को अपने पक्ष में सदन में खड़ा कर दिया है।

सीएम के इस बयान का विपक्ष में इतना असर हुआ कि वॉकआउट कर गए कांग्रेस विधायक दोबारा सदन में लौट आए और सीएम के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। हालांकि सीएम ने आखिर में ऊना प्रकरण पर लिखित स्टेटमेंट भी पढ़ी। उन्होंने कहा कि ऊना के पेखूवाला में 13 अगस्त की जिस घटना पर विधायक को परेशान करने के आरोप विपक्ष लगा रहा है, उसकी हकीकत ये है कि विधायक का पीएसओ, ड्राइवर और पीए विधायक की गाड़ी में ही पकड़े गए शराब तस्कर को छुड़ाने आया था।

केस कोर्ट में है, और कानूनन कार्रवाई होगी। विधायक के स्टाफ ने तस्कर को छुड़ाने के लिए पुलिस पर हमला किया है। ये सामान्य आरोप नहीं है, न ही सामान्य घटना है। जिस पंजाब नंबर की गाड़ी में अरुण कुमार नाम के व्यक्ति को शराब के साथ पकड़ा गया, उसके फोन पर विधायक के स्टाफ का आना और पुलिस से मारपीट करने का क्या अर्थ है?

इस बयान में सीएम ने कहा कि इस केस में कानूनन सारी कार्रवाई हुई है और विधायक के पीएसओ महिंद्र सिंह, चालक विजय कुमार और पीएम मुकेश कुमार को पुलिस ने अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया था, जिन्हें कोर्ट से जमानत मिल गई है। केस में जांच जारी है और विधायक की गाड़ी इसलिए जब्त की गई है, क्योंकि इसी का इस्तेमाल इस घटना में हुआ है। किसी को राजनीतिक आधार पर तंग करने का सवाल ही नहीं है।

This is Rising!

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams


[recaptcha]