News Flash

चाणक्य अकादमी ने पूरे किए शिक्षा के क्षेत्र में 6 बर्ष,कोई भी लक्ष्य बड़ा नही,जीता वही जो डरा नहीं

अमित सूद,जोगिंद्रनगर। शहर की चाणक्य अकादमी ने अपनी स्थापना की छठी वर्षगांठ मनाई। अकादमी निर्देशक सपना काजलेट ने कहा कि आज से 6 बर्ष पहले इस अकादमी की नींव अशोक काजलेट द्बारा रखी गयी थी। जो आज खुद हिमाचल पुलिस में अपनी सेवा दे रहे हैं। उन्होनें बताया कि एक समय ऐसा था जब खुद उनके पास कोचिंग लेने को पैसे व पढऩे के लिए किताबें नही थीं।

मात्र एक विद्यार्थी से इस संस्थान की शुरुआत हुई थी। वहीं आज बहुत से लोगो के सहयोग से इस संस्था से हजारों बच्चे शिक्षा प्राप्त कर चुके हैं। सपना ने बताया कि इस समय अकादमी के 300 से अधिक बच्चे व 15 अध्यापक व अध्यापिकाओं का चयन भारत व राज्य सरकार के विभिन्न विभागों में हो चुका है। उन्होनें कहा कि आज के समय में बच्चों को उनके लक्ष्य तक पहुंचाने के लिए अकादमी ने शिक्षा में बहुत सुधार किए हैं। अकादमी में आज के समय मे बच्चों को पढऩे के लिए किताबें,टेस्ट सीरीज,गेस्ट लेक्चर,मोटिवेशनल क्लासेज,ऑनलाइन मोबाइल ऐप व वेबसाइट के माध्यम से बच्चों को शिक्षित किया जा रहा है।

साथ ही इस मौके पर बच्चों को लक्ष्य बना कर कड़ी मेहनत करने की सलाह दी। सपना  काजलेट ने कहा कि आज के समय मे भारी कॉम्पिटिशन होने के कारण बहुत से बच्चे तनाब में आ जाते हैं और लक्ष्य से भटककर गलत रास्ते पर चल पड़ते हैं,जो कि बहुत गलत है। उन्होंने बच्चों से लगातार मेहनत करते रहने का आहवान किया,क्योंकि कर्म करने से ही भाग्य बदलता है। इसलिये हमे हमेशा प्रयास करते रहना चाहिए। उन्होनें कहा कि अकादमी हमेशा से सामाजिक कार्य मेअपना योगदान देती रहती है। अकादमी अब तक बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत बहुत सी बेटियों को छात्रवृत्ति देकर शिकक्षित कर चुकी है।

इसके अलावा हर साल बहुत से गरीब बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा दे चुकी है और आगे भी दे रही है,जिसका बच्चे लाभ ले सकते हैं। उन्होनें कहा कि जल्द ही अकादमी पूरे हिमाचल में अपनी शाखा खोलेगी। उन्होनें बताया कि जोगिंद्रनगर अकादमी जल्द ही कैम्पस में बाहरी लोगों के लिए भी पुस्कालय खोलने जा रही है। उन्होनें कहा कि अकादमीं का उद्देश्य कोई भी व्यक्ति शिक्षा से वंचित नही रहना चाहिए। इस समय अकादमी में पुलिस,आर्मी,पटवारी,फोरेस्ट गार्ड,नवोदय व सैनिक स्कूल की कक्षाएं चल रही हैं। जिसके लिए बच्चे आवेदन कर सकतें हैं। इस अवसर पर अकादमीं के अध्यापकों व बच्चों ने पूर्ण रूप से भाग लिया।

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams