News Flash
himachal day

कर्मचारियों को था वित्तीय घोषणा का इंतजार

  • CM बोले, तीन महीने में 960 करोड़ दिए सरकार ने
  • हजारों अनुबंध कर्मचारियों के अरमान रह गए अधूरे

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
हिमाचल दिवस पर परंपरा अनुसार कोई बड़ी घोषणा न होने से राज्य के लाखों कर्मचारियों को मायूसी हाथ लगी है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने पहले हिमाचल दिवस संबोधन में कोई नया ऐलान नहीं किया। इसका सबसे बड़ा कारण ये था कि मुख्यमंत्री मार्च महीने में पेश बजट में कई घोषणाएं कर चुके थे। बावजूद इसके सरकारी कर्मचारियों को जहां डीए या आईआर के बहाने वेतन बढऩे का इंतजार था, वहीं अनुबंध कर्मचारी सेवाकाल 3 से 2 साल करने का इंतजार कर रहे थे। ऐसा कुछ नहीं हुआ।

मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में इतना जरूर कहा कि प्रदेश के विकास में राज्य के कर्मचारियों की भूमिका अहम है। राज्य सरकार द्वारा कर्मचारियों तथा पेंशनरों को अन्तरिम राहत तथा मंहगाई भत्ते की किश्त जारी करने पर 960 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। ये लाभ केवल तीन महीने के कार्यकाल में दिए गए हैं।

भाषण पूरा होने के बाद मीडिया से अनौपचारिक बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सत्ता संभालते ही उनकी सरकार ने कर्मचारियों को दो बार लाभ दे चुकी है। उन्होंने प्रदेश के कर्मचारियों से आग्रह किया कि थोड़ा वक्त का इंतजार करें और आने वाले समय में प्रदेश सरकार कर्मचारियों के हित में अहम निर्णय लेगी।

गुडिय़ा केस में 25 तक और गिरफ्तारियां भी संभव

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams