News Flash
notice teacher

पूर्व कांग्रेस सरकार के समय बनी थी इन शिक्षकों की फाइल

सस्पेंशन का था खतरा, नई सरकार ने नोटिस दे कर छोड़ा 

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
वर्ष 2017 में खराब रिजल्ट देने वाले शिक्षकों पर बनी जांच रिपोर्ट पर आगामी कार्रवाई की गई है। इसमें 78 शिक्षकों को प्रदेश सरकार ने नोटिस जारी कर छोड़ दिया है। हालांकि पूर्व सरकार इन शिक्षकों पर सस्पेंशन की गाज गिराने जा रही थी। जानकारी के मुताबिक नई सरकार ने जांच रिपोर्ट के आधार पर केवल नोटिस जारी करते हुए हिदायत दी है।

इनके आगामी रिजल्ट पर भी शिक्षा विभाग को कड़ी नजर रखने के आदेश जारी किए गए हैं। यदि दोबारा किसी शिक्षक की पढ़ाने में लापरवाही सामने आती है तो सस्पेंशन की गाज जल्द गिर सकती है। प्रदेश सरकार ने साफ कर दिया है कि बच्चों को पढ़ाने में लापरवाही बरतने वाले टीचर्स को बक्शा नहीं जाएगा। जांच कर आगामी कार्रवाई अपनाई जाएगी।

गौर हो कि पूर्व सरकार के पास वर्ष 2017 में खराब रिजल्ट देने वाले शिक्षकों की इंस्पेक्शन रिपोर्ट पर कार्रवाई लंबित थी। इसमें शिक्षकों को जारी किए गए नोटिस के जवाबों के साथ रिपोर्ट की फाइल सचिवालय में पड़ी थी। सूचना है कि कांग्रेस कार्यकाल के दौरान शिक्षकों की बनी इस जांच रिपोर्ट में जांच अधिकारियों द्वारा शिक्षकों पर की जाने वाली कार्रवाई के स्थान पर शिक्षा क्षेत्र को सुधारने के लिए सुझाव दिए थे। इसके बाद दोबारा रिपोर्ट तैयार की जा रही थी।

इसे देखते हुए अब प्रदेश सरकार ने शिक्षकों को नोटिस ही जारी किए हैं, जिसमें उनके आगामी रिजल्ट पर ध्यान देने के बारे में कहा है। फिलहाल एसीआर में शिक्षकों के रिजल्ट की अपडेट जरूर लिखी जानी हैं, लेकिन निष्कासन की कार्रवाई नहीं अपनाई जाएगी। फिलहाल अभी खराब रिजल्ट को लेकर 11 हेडमास्टर को चार्जशीट किया गया है, जिस पर अभी जांच जारी है।

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams