paddal

सस्पेंशन ब्रिज के लिए विभाग ने टेंडर किए आवंटित

महज पांच मिनट में मंडी पहुंचेंगे पड्डल के लोग

हिमाचल दस्तक। मंडी 

शहर के पड्डल वार्ड को पुरानी मंडी से जोडऩे वाले सस्पेंशन ब्रिज का टेंडर कई दिनों से रुका था, लेकिन विभाग ने अब टेंडर आवंटित कर दिया है, जिससे इसका निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। सूत्रों के मुताबिक इसका टेंडर एक स्थाानीय ठेकेदार को 4.59 करोड़ में आवंटित किया गया है। ब्रिज के बनने से जहां पुरानी मंडी के लोग सीधे मंडी पहुंचेंगे, वहीं पर उनका समय भी बच जाएगा। जानकारी के अनुसार इस पुल का टेंडर होने के बाद इस पुल का निर्माण एक साल के अंदर करना होगा।

बताया जा रहा है कि इसका कार्य जल्द ही काम शुरू हो जाएगा। पुल के बनने से पड्डल से पुरानी मंडी जुड़ जाएगा।उधर, वर्षों से चली आ रही मांग पूरा होने से लोगों में खुशी का माहौल है। इस पुल की मांग सन 1998 से नगर परिषद के स्थानीय मनोनीत पार्षद पुष्पराज ने सरकार से उठाई थी, लेकिन यह पुल वर्षों तक सिरे नहीं चढ़ पाया। परंतु इस बार शिवरात्रि पर बतौर मुख्यातिथि मंडी पहुंचे

एक साल की अवधि में करना होगा पूरा काम

इस ब्रिज को बनाने के लिए विभाग ने एक साल का समय रखा है। इस अवधि में इसे पूरा करना होगा। विभाग का दावा है कि इस ब्रिज को तय सीमा के अंदर ही पूरा कर लिया जाएगा। लोगों को कहना है कि विभाग इस कार्य को सही तरीके से करवाए ताकि लोगों को यह सुविधा जल्द मिल सके।  मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने इस पुल के निर्माण को हरी झंडी दिखा दी और बजट भी स्वीकृत कर दिया।

125 मीटर लंबा और आठ फुट चौड़ा होगा पुल

इस सस्पेंशन ब्रिज की कुल लंबाई 125 मीटर और चौड़ाई आठ फुट होगी। इस पुल के बनने से लोगों को अब भ्युली या विक्टोरिया की तरफ नहीं जाना पड़ेगा। मंडी नगर परिषद ने इस पुल को बनाने के लिए मुख्यमंत्री के समक्ष इस पुल को बनाने की मांग रखी थी। उसी के बाद ये पुल बनाने की प्रक्रिया शुरू हुई थी।

विभाग ने टेंडर आबंटित कर दिया है इस कार्य को तय सीमा के अंदर पूरा किया जाएगा। इस पुल के बनने से लोगों को राहत मिल जाएगी। -एचसी वर्मा, एसडीओ, पीडब्ल्यूडी, मंडी

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams