News Flash
petrol diesel prices

बेलगाम कीमतों पर रोक लगाने में मोदी सरकार के हाथ हुए खड़े

किराया बढ़ा डबल मंहगाई की तैयारी में जयराम सरकार

राजीव भनोट, ऊना।

केंद्र की असफलता के चलते देश में जहां पेट्रोल और डीजल के दाम बेलगाम होकर लगातार बढ़ रहे हैं। वही हिमाचल सरकार के अडिय़ल रवैया के कारण प्रदेश को राहत नहीं मिल रही है, जबकि वेट कम कर पेट्रोल व डीजल की कीमत में राहत प्रदान की जा सकती है। जिससे किराया बढ़ाने की नौबत भी नहीं आएगी। यह बात नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों व प्रदेश सरकार द्वारा बसों का किराया बढ़ाने के कदम के बीच अपनी प्रतिक्रिया में कहीं।

मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि पेट्रोल व डीजल के दाम आसमान को छू रहे हैं, केंद्र सरकार कोई भी कदम दाम को कम करने के लिए नहीं उठा पाई है, बल्कि पीएम मोदी कीमतों को कम करने के स्थान पर विदेशी दौरों व राजनीति करने में व्यस्त हैं। ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथ पेट्रोल व डीजल की कीमतों पर खड़े हो गए हैं, इसीलिए लगातार दाम रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि लगातार दाम बढऩे के चलते जहां महंगाई बढ़ रही है, वहीं दूसरी ओर डीजल के दाम में बढ़ोतरी के कारण ट्रक, बस, ऑटो व टैक्सी व्यवसाय से जुड़े लोग भी किराया बढ़ाने की मांग करने लगे हैं।

हिमाचल में तो इसके लिए निजी बसों के चक्के जाम तक हो रहे हैं, जो प्रदेश की भाजपा सरकार की विफलता व असफलता की कहानी को ब्यां करता है। उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर वैट से राहत देने के स्थान पर सरकार जनता पर डबल मार मारने के लिए किराया बढ़ाने की बात कर रही है। उन्होंने कहा कि पूर्व की वीरभद्र सरकार के समय जब पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़े थे तब भी कांग्रेस की सरकार ने बस किराए में बढ़ोतरी नहीं की थी, बल्कि जनता को कुछ राहत वैट में राहत देकर की थी।

मोदी सरकार पेट्रोल व डीजल को महंगे दामों पर बेच रही है

निश्चित रूप से मुख्यमंत्री को वर्तमान समय को देखते हुए पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के लिए वैट में कुछ कमी करने का फैसला लेना चाहिए, इससे जहां आम जनता को कुछ लाभ होगा, वही किराए की बढ़ोतरी करने से भी बचाव हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने पेट्रोल व डीजल की कीमतों के विरोध में देशभर में प्रदर्शन किया है और इसके खिलाफ हम लगातार आवाज उठाएंगे।

उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के समय जब पेट्रोल व डीजल के दाम बढ़े थे, तो प्रधानमंत्री सहित भाजपा के बड़े नेता आंदोलन करते नहीं थकते थे, अब भाजपा के नेता बताएं कि वह किस मुंह से पेट्रोल व डीजल की कीमतें को बढऩे पर इसे जायज ठहरा रहे हैं। अब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम कम हुए हैं, जबकि यूपीए सरकार में अधिक थे। बावजूद इसके मोदी सरकार पेट्रोल व डीजल को महंगे दामों पर बेच रही है। उन्होंने कहा कि क्यों अब मोदी सरकार पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में नहीं लाती। इस पर भाजपा को सफाई देनी चाहिए।

रसोई गैस भी रुला रही

नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि रसोई गैस भी गृहणियों को रुला रही है। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार के समय जो सिलेंडर 415 रुपये में घर पहुंचता था। उसी सिलेंडर की कीमत मोदी सरकार ने 915 रुपये के करीब कर दी है और जनता पर महंगाई का बोझ लगातार बढ़ रहा है। रसोई पर भी भाजपा सरकार की लगातार मार पड़ रही है, इससे महिलाएं आने वाले समय में भाजपा सरकार को सबक सिखाएंगी।

रुपए की गिरावट पर शर्म करे केंद्र

नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि भारतीय रुपए की कम होती कीमत पर केंद्र सरकार को शर्म तो शायद अब आती होगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने भाषणों में यूपीए सरकार के समय पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह व कांग्रेस को कोसते नहीं थकते थे। अब भारतीय एक रुपए की आज की कीमत सबसे कम है। इसके मुकाबले अमेरिकी डॉलर 72 रुपए हो गया है, इसके लिए कौन दोषी है। उन्होंने कहा कि सीधे रूप से केंद्र सरकार की आर्थिक नीतियां इसके लिए दोषी हैं।

ठेके पर कंडक्टर रखने पर उठाया सवाल

नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने प्रदेश सरकार द्वारा परिवहन निगम में ठेके पर कंडक्टर भर्ती करने के मामले पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री बताएं कि आखिर क्या जरूरत आन पड़ी है कि सरकार कंपनियों से टेंडर मंगाकर आउटसोर्स पर कंडक्टर रखना चाहती है? उन्होंने कहा कि हिमाचल के युवाओं को सीधा रोजगार देना चाहिए, रिक्त पदों को पूरी प्रक्रिया के तहत भरा जाना चाहिए।

ठेके पर रखने के पीछे सीधा-सीधा दाल में काला नजर आता है। उन्होंने कहा कि यह हिमाचली नौजवानों व बेरोजगारों के साथ भी अन्याय होगा। उन्होंने कहा कि इस प्रकार प्रदेश के खजाने को कंपनियों को लुटाने से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को परहेज करना चाहिए और अपने मंत्रियों पर भी इस प्रकार के लोकप्रिय निर्णय लेने पर लगाम लगानी चाहिए।

यह भी पढ़ें – राफेल डील और माल्या के खुलासे ने मोदी सरकार का मुखोटा उतारा – राजेंद्र राणा

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams