News Flash
pgt

शिक्षा विभाग शिक्षकों से संपर्क करके बना रहा रूपरेखा

पोस्ट ग्रेजुएट टीचर्स यूनियन ने सीएम से उठाया था मामला

हिमाचल दस्तक ब्यूरो। शिमला
आठवीं कक्षा तक PGT अब नहीं पढ़ाएंगे। जानकारी के मुताबिक शिक्षा विभाग इस ओर प्रस्ताव तैयार करने में जुट गया है। जिसमें शिक्षक संघों से कमेंट मांगे गए है। गौर हो कि पोस्ट ग्रेज्युएट टीचर्स युनियन ने स्कूलों में आठवीं कक्षा तक पढ़ाने का विरोध दर्ज किया था। जिसे लेकर विभाग द्वारा ये प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है।

संघ ने प्रदेश मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के समक्ष ये मांग उठाई थाी कि पीजीटी अध्यापक निदेशालय उच्चतर शिक्षा के अंंतर्गत आते हैं इसलिए वह प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय की कक्षाएं नहीं पढ़ाना चाहते हैं। लिहाजा़ इन बिंदुओं को देखते हुए विभाग इस ओर प्रस्ताव तैयार करके प्रदेश सरकार को सौंप रहा है।

संघ के अध्यक्ष चितरंजन काल्टा का कहना है कि पिछली सरकार और पूर्व शिक्षा निदेशकों के समक्ष कई बार ये मांग उठाई जा चुकी है लेकिन इसमें उन्हें कभी भी राहत नहीं मिली है। इस बार प्रदेश सरकार से उम्मीद है कि इस ओर काम किया जाएगा। संघ ने प्रदेश सरकार से पुरानी पेंशन बहाली के बारे में भी अपनी मांग पेश की है। जिसे लेकर संघ के अध्यक्ष चितरंजन काल्टा ने कहा कि PGT संघ की काफी लंबे समय से कई मांगें लंबित पड़ी है। जिसमें अब आठवीं कक्षा तक नहीं पढ़ाने मांग पर आगे कदम उठाने से काफी लाभ शिक्षकों को मिल पाएगा।

अध्यक्ष का कहना है कि अब उम्मीद है कि नई सरकार शिक्षकों की लंबित मांगों क ो मानेगी। संघ के अध्यक्ष चितरंजन काल्टा का कहना है कि इस मांग को लेकर प्रतिनिधिमंडल शिक्षा सचिव डॉ अरूण कुमार से भी संघ मिल चुका है और जल्द ही शिक्षा मंत्री से भी मिलने वाला है।

ये मांग भी पेश की गई है सरकार से

अध्यक्ष का कहना है कि डॅा अरूण शर्मा के समक्ष ये भी मांग उठाई गई है कि PGT टीचर्स की अलग से प्रमोशन लिस्ट जारी की जाए। जिससे प्रमेाशन की प्रक्रिया बेहतर तरीके से चल सकेगी। संघ के मुताबिक आठवीं कक्षा को नहीं पढ़ाने की मांग भी उनके समक्ष भी पेश की जा चुकी है।

रिपोर्टर – दीपिका

यह भी पढ़ें – ‘खली’ की कुश्ती में छूटे महकमों के पसीने

Comments

Coming soon

Career Counsling

Get free career counsling and pursue your dreams